कर्नाटक : अलांद शहर में शिवलिंग का अनादर करने से तनाव का माहौल

March 1st, 2022

हाईलाइट

  • मंदिर के बगल में स्थित है लाडले मशक दरगाह
  • आज ही मनाया जा रहा है शब-ए-बरात पर्व

डिजिटल डेस्क, रायचूर । कर्नाटक में कलाबुर्गी जिले के अलांद शहर के ईश्वर मंदिर में शिवलिंग का अनादर करने से तनाव का माहौल व्याप्त है और यहां तीन मार्च तक जारी निषेधाज्ञा आदेशों के बीच महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। जिले में बड़े पैमाने पर मनाए जाने वाले इस त्योहार के लिए जिला प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं। पुलिस के मुताबिक मंदिर में विशेष पूजा की व्यवस्था की गई है। मंदिर के बगल में स्थित लाडले मशक दरगाह में भी आज ही शब-ए-बरात पर्व मनाया जा रहा है। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

कलाबुर्गी पुलिस ने श्रीराम सेना के संस्थापक प्रमोद मुतालिक, हिंदू कार्यकर्ता चैत्र कुंडपुरा और सिद्धलिंग स्वामीजी के 3 मार्च तक कलबुर्गी जिले में प्रवेश पर रोक लगाने के आदेश जारी किए हैं। जिला प्रशासन के फैसले का हिंदुत्ववादी संगठनों द्वारा विरोध किया जा रहा है। सिद्धलिंग स्वामीजी को इस मंदिर में एक सफाई धार्मिक कार्यक्रम का नेतृत्व करना था।

आदेशों का उल्लंघन कर जिले में घुसने की कोशिश में हिन्दू कार्यकर्ता चैत्र कुंडपुरा को शाहाबाद पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। प्रमोद मुतालिक ने कहा था कि कलाबुर्गी के जिला आयुक्त हिंदू विरोधी रुख अपना रहे हैं।

कलाबुर्गी सहित पूरे उत्तर कर्नाटक क्षेत्र में शिवरात्रि उत्सव अत्यंत भक्ति और धूमधाम से मनाया जाता है। शिवलिंगअनादर मामले ने राज्य पुलिस विभाग को चिंतित कर दिया है क्योंकि इस मुद्दे से राज्य में कानून और व्यवस्था के बिगड़ने की आशंका है।

शिवमोगा में बजरंग दल के कार्यकर्ता हर्ष की हत्या की घटना के बाद राज्य पुलिस विभाग को एक सप्ताह से अधिक समय तक शहर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम करने पड़े थे। यहां स्कूल और कॉलेज सोमवार से खोले गए थे और बड़े पैमाने पर हिंसा का सामना करने वाला शिवमोगा शहर में स्थिति अब सामान्य हो रही हैं।

(आईएएनएस)