दैनिक भास्कर हिंदी: हरिद्वार में बह गई कार तो भुवनेश्वर में रेलवे ट्रैक पर नदी जैसा मंजर

July 21st, 2018

हाईलाइट

  • उत्तराखंड में बारिश का कहर जारी।
  • हरिद्वार में बही कार।
  • बारिश से ज्यादातर इलाकों में हुआ जलभराव।

डिजिटल डेस्कू, देहरादून। उत्तराखंड में बारिश का कहर जा रही है। ज्यादातर इलाकों में बारिश की वजह से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। हरिद्वार में बीते दो दिनों से जारी भीषण बारिश में सड़क पर खड़ी चार पहिया गाड़ी बह गई। दरअसल कार में कुछ लोग एक शव का अंतिम संस्कार करने के लिए आए हुए थे। इसी बीच बारिश तेज हो गई और सड़क पर पानी भरने लगा,जलस्तर बढ़ जाने से गाड़ी पानी के साथ सड़क पर बहने लगी। ये हादसा कार पार्क करने की चंद मिनट बाद हुआ। अगर कोई में कोई बैठा होता तो बड़ा हादसा हो सकता था। 

 

 

ओडिशा में रेलवे ट्रैक पर पानी के बीच फंसी ट्रेन 

भारी बारिश के बीच ओडिशा में हालत खराब है। भुवनेश्र-जगदलपुर हीराखंड एक्सप्रेस की रफ्तार उस वक्त थम गई, जब रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया। 

 



बहते हुए गंगा में पहुंची कार 
मूसलाधार बारिश से गंगनगर में आए उफान से शहर में जलभराव का संकट गहरा गया है इसके चलते एक कार खड़खड़ी श्मशान से बहती हुई गंगा नदी तक चली गई, कुछ दूर बाद कार नदीं के बहाव में फंस गई, जिसे पानी कम होने पर निकाला गया। 

अंतिम संस्कार में आए थे चार लोग
आचानक आई इस आफत की बारिश में चार लोग बहते-बहते बच गये,दरअसल ये लोग उसी कार में सवार थे जो गंगनगर के शमशान घाट के सामने खड़े-खड़े बहने लगी थी।यहां शव का अंतिम संस्कार करने पहुंचे ये लोग कुछ समझ पाते उसके पहले ही सड़क पर पानी तेजी से बढ़ने लगा और कार पानी के साथ-साथ बहती चली गई। हादसा कार सवार लोगों के कार से उतरने के चंद मिनट बाद हुआ है। 

कनखल में घरों के अंदर कई फीट तक भरा पानी
कनखल और उत्तरी हरिद्वार की कई इलाकों में घरों के भीतर तक कई फीट पानी भर गया। घरों में पानी भरने से रहवासीयों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा और वो बार बार अधिकारियों से गंगनहर में पानी कम करने की गुहार लगाते रहे। आखिर जिलाधिकारी के आदेश के बाद गंगनहर में पानी कम कराया गया।

जिला प्रशासन के दावों की खुली पोल
शुक्रवार को दोपहर तीन बजे हुई मात्र एक घंटे की बारिश ने जिला प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल कर रख दी। मध्य हरिद्वार क्षेत्र में रानीपुर मोड़, गोविंदपुरी, आवास विकास जैसे कई इलाकों में दो फीट से अधिक पानी भर गया। भगत सिंह चौक पर रेलवे पुलिया के नीचे निर्माण कार्य चल रहा था जिसके कारण वहां भारी जलभराव हो गया और शहर का यातायात पूरी तरह ठप पड़ गया।