दैनिक भास्कर हिंदी: बढ़ेगी सेना की ताकत: चीन से जारी विवाद के बीच अमेरिका से 72 हजार SIG राइफल खरीदेगी भारतीय सेना

July 13th, 2020

हाईलाइट

  • सैनिकों को इंसास की जगह एसआईजी 716 असॉल्ट राइफलें दी जाएंगी
  • 1.5 लाख राइफलें आयात की जानी हैं
  • इजराइल को 16 हजार एलएमजी का ऑर्डर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चीन के साथ विवाद के बीच भारतीय सेना अमेरिका से 72 हजार SIG-716 असॉल्ट राइफल खरेदगी। नए हथियारों की खरीद फास्ट-ट्रैक पर्चेज (एफटीपी) के तहत की जाएगी। बता दें कि सेना की नार्दन कमांड और दूसरे ऑपरेशन इलाकों में तैनात सैनिकों को अमेरिका से 72 हजार राइफलें पहले ही मिल चुकी हैं। यह राइफलों की दूसरी किश्त होगी।

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी सीमा विवाद के दौरान भारत सरकार ने अपनी सेनाओं की ताकत और मजबूत करने की दिशा में कदम बढ़ाए हैं। हाल ही में रूस के साथ लड़ाकू विमानों के लिए सौदा हुआ और अब भारतीय सेना अमेरिका से 72 हजार एसआईजी 716 असॉल्ट राइफल खरीदने जा रही है। 

सैनिकों को इंसास की जगह एसआईजी 716 असॉल्ट राइफलें दी जाएंगी 
हथियार बनाने वाली अमेरिकी कंपनी सिग सॉयर से भारतीय सेना को ये राइफलें मिलेंगी। एसआईजी 716 असॉल्ट राइफलों को अमेरिका में बनाया जाएगा। ये नई राइफलें मौजूदा समय में भारतीय सेनाओं में इस्तेमाल की जा रही इंडियन स्माल आर्म्स सिस्टम (इंसास) 5.56x45 मिमी राइफल को रिप्लेस करेंगी। यानी भारतीय सेना के जवानों को अब नई राइफलें दी जाएंगी।

1.5 लाख राइफलें आयात की जानी हैं 
आतंकवाद विरोधी अभियान में जवानों के लिए 1.5 लाख राइफलें आयात की जानी है। बाकी के सैनिकों को एके-203 राइफलें दी जाएंगी। भारत और रूस मिलक इन राइफलों को अमेठी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बनाएंगे। फिलहाल इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू नहीं हुआ है।

एसआईजी 716 असॉल्ट राइफल की खासियत
एसआईजी 716 असॉल्ट राइफलें क्लोज और लॉन्ग काम्बैट की नई तकनीक से लैस हैं। जिन इंसास राइफलों को सेना अभी इस्तेमाल कर रही है, उसमें मैग्जीन टूटने की कई शिकायतें आई हैं। नई राइफलों में इस तरह की कोई समस्या नहीं हैं। इंसास राइफलों से 5.56x45 मिमी कारतूस ही दागे जा सकते हैं, जबकि एसआईजी 716 राइफल में अधिक ताकतवर 7.62x51 मिमी कारतूस का इस्तेमाल होता है। 

इजराइल को 16 हजार एलएमजी का ऑर्डर
रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में इस्रायल से 16 हजार लाइट मशीन गन (एलएमजी) भी खरीदने का ऑर्डर दिया है। भारतीय सेना काफी समय से अपनी इंसास राइफलों को बदलना चाह रही है। इसे देखते हुए ही सरकार नए हथियारों के सौदे कर रही है।
 

खबरें और भी हैं...