comScore

महाराष्ट्र: बालासाहब को श्रद्धांजलि देने पहुंचे फडणवीस को शिवसैनिकों ने चिढ़ाया, 'मैं फिर वापस आउंगा' के नारे लगाए


हाईलाइट

  • महाराष्ट्र के तमाम राजनीतिज्ञ दे रहे बाल ठाकरे को श्रध्दांजलि
  • पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे सभा स्थल
  • शिवसैनिकों ने जमकर लगाए पार्टी समर्थन में नारे

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे की 7वीं पुण्यतिथि पर महाराष्ट्र के तमाम राजनीतिज्ञ उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। इस अवसर पर राजधानी मुंबई के शिवाजी मैदान में आयोजित स्मृति सभा में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बालासाहब को श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंचे, तो शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने अपनी पार्टी के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। शिवसैनिकों ने मराठी में 'किसकी सरकार, शिवसेना की सरकार' के नारे लगाए।

इस मौके पर फडणवीस के साथ भाजपा नेता पंकजा मुंडे और विनोद तावड़े भी इस कार्यक्रम में पहुंचे थे। हालांकि शिवसैनिकों की नारेबाजी पर श्रद्धांजलि देने के बाद फडणवीस बिना किसी व्यवधान के सभा स्थल से रवाना हो गए।

मैं फिर से आऊंगा

कांग्रेस और राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (NCP) के समर्थन से शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने जा रही है। वहीं देवेंद्र फडणवीस कई प्रेस कॉन्फ्रेंस दोहरा चुके हैं कि राज्य में फिर से भाजपा सरकार आएगी और वह एक बार फिर मुख्यमंत्री बनेंगे। इसी आधार पर जब फडणवीस, बालासाहब को श्रद्धांजलि देने के बाद सभा स्थल से लौट रहे थे, उस समय शिवसैनिकों ने उन्हें चिढ़ाने के लिए 'मैं फिर से आऊंगा' के नारे  भी लगाए।

सभा स्थल से लौटने के बाद फडणवीस ने बालासाहब को श्रद्धांजलि देती हुई अपनी तस्वीरें भी ट्विटर में शेयर कीं। इसके साथ उन्होंने मराठी में लिखा कि 'हिंदू हृदय सम्राट शिवसेना प्रमुख बालासाहब को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की।'

न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर बनी सहमति

बता दें कि शिवसेना, कांग्रेस और NCP के बीच शुक्रवार को कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में सहमति बन गई है। जिन मुद्दों पर सहमति बनी है, उनमें किसान कर्ज माफी, फसल बीमा योजना की समीक्षा, रोजगार और छत्रपति शिवाजी महाराज और बीआर अंबेडकर स्मारक शामिल हैं। वहीं पूरे कार्यकाल के लिए शिवसेना को मुख्यमंत्री पद मिलेगा, जबकि NCP और कांग्रेस को एक-एक डिप्टी सीएम का पद दिया जाएगा। इसके अलावा शिवसेना को 14 मंत्री पद, NCP को 14 और कांग्रेस को 12 मंत्री पद मिलेंगे।

कमेंट करें
pyGRS