दैनिक भास्कर हिंदी: RTI में खुलासा: 4 महीने में गुजरातियों ने सरेंडर किया 18,000 करोड़ कालाधन

October 2nd, 2018

हाईलाइट

  • सरकार ने नोटबंदी के बाद चलाई थी योजना
  • पुरानी अघौषित प्रॉपर्टी का कर सकते थे खुलासा
  • भरत सिंह झाला नामक युवक ने लगाई थी RTI

डिजिटल डेस्क, गांधीनगर। नोटबंदी के बाद सरकार ने क्षमादान योजना (इनकम डिक्लेरेशन) योजना चलाई थी। इस योजना के तहत कोई भी अपनी उस काली कमाई का खुलासा कर सकता है, जिसका जिक्र उसने अपने पुराने रिटर्न में नहीं किया है। इसमें खुलासे वाली रकम में से 45 प्रतिशत रकम सरकार आयकर और सेस मानकर काट लेती थी, तो वहीं बाकी रकम खुलासा करने वाले व्यक्ति को वापस दे दी जाती थी। इस योजना के तहत गुजरातियों ने 4 महीने में 18,000 करोड़ रुपए का खुलासा किया है।