दैनिक भास्कर हिंदी: सत्ता के 20 साल: मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी का 20वां वर्ष, बधाइयों पर बोले पीएम- देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का संकल्प

October 8th, 2020

हाईलाइट

  • पहले गुजरात के सीएम और बाद में देश के प्रधानमंत्री के तौर पर सत्ता में नरेंद्र मोदी के 19 साल पूरे
  • लगातार 20वें साल में सरकारों की अगुआई पर पीएम मोदी को देशभर में मिलीं बधाईयां
  • 7 अक्टूबर 2001 को पहली बार गुजरात के सीएम बने थे मोदी, 26 मई 2014 को पहली बार देश के पीएम बने

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के तौर पर 19 वर्ष पूरे किए। पीएम मोदी पहले गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और अब भारत के प्रधानमंत्री हैं। बतौर सीएम और पीएम उनका 20वां साल शुरू हो चुका है। इस मौके पर उन्हें ढेर सारी बधाइयां और शुभकामनाएं मिलीं। इस पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोगों का आभार जताते हुए कहा कि वह देशवासियों को एक बार फिर से विश्वास दिलाते हैं कि देशहित और गरीबों का कल्याण उनके लिए सबसे ऊपर है और हमेशा सबसे ऊपर रहेगा। उन्होंने देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का संकल्प की बात कही। नरेंद्र मोदी ने 7 अक्टूबर 2001 को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। तबसे ही वह अजेय हैं। 2014 में वह देश के प्रधानमंत्री बने और 2019 के लोकसभा चुनाव में और ज्यादा मजबूती के साथ दोबारा केंद्र की सत्ता में आए।
 
पीएम मोदी ने कहा कि बचपन से मेरे मन में एक बात संस्कारित हुई कि जनता-जनार्दन ईश्वर का रूप होती है और लोकतंत्र में ईश्वर की तरह ही शक्तिमान होती है। इतने लंबे कालखंड तक देशवासियों ने मुझे जो जिम्मेदारियां सौंपी हैं, उन्हें निभाने के लिए मैंने पूरी तरह से प्रामाणिक और समर्पित प्रयास किए हैं। लोगों से मिली बधाइयों पर पीएम मोदी ने कहा कि आज जिस प्रकार देश के कोने-कोने से आप सबने आशीर्वाद और प्रेम बरसाए हैं, उसका आभार प्रकट करने के लिए आज मेरे शब्दों की शक्ति कम पड़ रही है। 

अगले ट्वीट में उन्होंने शुभकामाओं के लिए आभार जताते हुए लिखा, 'आज जिस प्रकार देश के कोने-कोने से आप सबने आशीर्वाद और प्रेम बरसाए हैं, उसका आभार प्रकट करने के लिए आज मेरे शब्दों की शक्ति कम पड़ रही है! देश सेवा, गरीबों के कल्याण और भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का हम सबका जो संकल्प है, उसे आपका आशीर्वाद, आपका प्रेम और मजबूत करेगा।'

पीएम मोदी ने एक और ट्वीट में लिखा, 'कोई व्यक्ति कभी यह दावा नहीं कर सकता कि मुझमें कोई कमी नहीं है। इतने महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी भरे पदों पर एक लंबा कालखंड… एक मनुष्य होने के नाते मुझसे भी गलतियां हो सकती हैं। यह मेरा सौभाग्य है कि मेरी इन सीमाओं और मर्यादाओं के बावजूद आप सबका प्रेम उत्तरोत्तर बढ़ रहा है।'

प्रधानमंत्री ने लिखा कि वह खुद को जनता के आशीर्वाद और प्रेम के लायक बनाने के लिए लगातार प्रयास करते रहेंगे। उन्होंने लिखा, 'मैं अपने आपको, आपके आशीर्वाद के योग्य, आपके प्रेम के योग्य बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहूंगा। देशवासियों को एक बार फिर से विश्वास दिलाता हूं कि देशहित और गरीबों का कल्याण, यही मेरे लिए सर्वोपरि है और हमेशा सर्वोपरि रहेगा।'

खबरें और भी हैं...