comScore

Terrorist Attack: दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों ने पुलिसकर्मी की हत्या की, दो दिन में 4 जवान शहीद

Terrorist Attack: दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों ने पुलिसकर्मी की हत्या की, दो दिन में 4 जवान शहीद

हाईलाइट

  • कश्मीर में पिछले दो दिनों के दौरान सुरक्षा बलों पर यह दूसरा हमला
  • शनिवार को सोपोर में आतंकी हमले में CRPF के 3 जवान शहीद हुए थे

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में आतंकवादियों ने रविवार को एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार संदिग्ध आतंकवादियों ने दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में हिलर में पुलिसकर्मी को बिल्कुल करीब से गोली मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया है और तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। कश्मीर में पिछले दो दिनों के दौरान सुरक्षा बलों पर यह दूसरा हमला है। इसके पहले शनिवार को सोपोर में एक आतंकी हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गए थे।

श्रीनगर से 50 किलोमीटर दूर सोपोर में नूरबाग इलाके में अहद बब क्रॉसिंग के पास जम्मू-कश्मीर पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की संयुक्त नाका पार्टी पर आतंकियों ने अंधाधुंध गोलीबारी कर दी थी। आतंकियों ने वहां खड़ी CRPF की बुलेट प्रूफ गाड़ी और जवानों को निशाना बनाया। बताते हैं कि बुलेट प्रूफ वाहन का पिछला हिस्सा खुला था, तभी आतंकियों ने वहां पहुंचकर पीछे से ताबड़तोड़ फायरिंग की। हमले में CRPF के 5 जवान घायल हो गए। घटना के बाद हमलावर मौके से भाग निकले। आनन-फानन में अन्य जवानों की मदद से घायलों को सोपोर उप जिला अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने तीन जवानों को मृत लाया घोषित कर दिया। घायल हेड कांस्टेबल तथा वाहन के ड्राइवर का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

शनिवार को ये जवान हुए थे शहीद
हमले में बिहार के वैशाली निवासी 42 वर्षीय जवान राजीव शर्मा, महाराष्ट्र के बुलढाना में रहने वाले 38 साल के जवान सीबी भाकरे और गुजरात के सांबरकांठा निवासी 28 वर्षीय निवासी सत्यपाल सिंह शहीद हो गए। हमले में हेड कांस्टेबल और ड्राइवर घायल हुए हैं। वहीं इस क्षेत्र में घेराबंदी के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल लाया गया है। हमलावरों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू किया है। 

कोरोना संकट के बीच बढ़ी आतंकी गतिवि​धियां
बता दें कि पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है। इसी बीच जम्मू-कश्मीर में आतंकी बीते कुछ दिनों से लगातार भारतीय सुरक्षाबलों को निशाना बनाते हुए हमला कर रहे हैं। शनिवार को भारतीय सुरक्षाबलों पर इस हफ्ते का यह तीसरा बड़ा हमला है। इससे पहले शुक्रवार को आतंकियों ने सीआरपीएफ और पुलिस के संयुक्त कैंप पर हमला किया था। इसमें सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया था। इसके अलावा शुक्रवार को ही शोपियां और किश्तवाड़ में दो अलग-अलग अभियानों में भारतीय जवानों ने चार आतंकवादी मार गिराए थे। इसके अलावा पाकिस्तानी सेना की ओर से भी लगतार सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है।

पिछले हफ्ते आतंकियों ने एसपीओ की हत्या की थी
इसके अलावा किश्तवाड़ जिले में भी पिछले हफ्ते आतंकवादियों ने एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) की हत्या कर दी थी। इस दौरान एक अन्य पुलिस अधिकारी भी घायल हुआ था। इस घटना के दो आरोपियों को शुक्रवार को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया गया था।

पिछले 15 दिन में 13 आतंकी मार गिराए, 5 जवान शहीद
बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पिछले 15 दिन में भारती सेना ने 4 बार मुठभेड़ में 13 आतंकियों को मार गिराया है। इस कार्रवाई के दौरान भारतीय सेना के 5 जवान शहीद हुए हैं। इस महीने 4 अप्रैल को भारतीय सेना के जवानों ने कुलगाम में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल के 4 आतंकियों को मार गिरया था। इसके बाद 7 अप्रैल को सेना ने आमने-सामने की लड़ाई में 5 आतंकियों को ढेर कर दिया था। यह कश्मीर में साल का सबसे मुश्किल ऑपरेशन था। इसमें सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी पैरा यूनिट के 5 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद 11 अप्रैल को कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी, इसमें आतंकी हथियार छोड़कर भाग गए थे। इसके बाद 17 अप्रैल को राज्य में दो अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़ हुई, इसमें 4 आतंकी मार गिराए गए थे।

कमेंट करें
71DiA
कमेंट पढ़े
Hariram Agrawal April 20th, 2020 12:53 IST

yah pura desh ko Rona se jujh raha hai aur Pakistan apni aadaton se Baj Nahin a raha hai use Uda do

NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।