दैनिक भास्कर हिंदी: एडवाइजरी : कोरोना वायरस से 300 संक्रमित, भारत ने 7 एयरपोर्ट पर शुरू की थर्मल स्क्रीनिंग

January 21st, 2020

हाईलाइट

  • भारत ने सात एयरपोर्ट पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी शुरू की
  • कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर भारत ने यह कदम उठाया
  • एयरलाइनों को इन-फ्लाइट अनाउंसमेंट करने के लिए भी कहा गया है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर भारत ने चीन और हांगकांग से उड़ानों का संचालन करने वाली एयरलाइनों को इन-फ्लाइट अनाउंसमेंट करने के लिए कहा है। अनाउंसमेंट में यात्रियों से कहा गया है कि जिन्होंने बीते 14 दिनों में वुहान शहर की यात्रा की है और उन्हें बुखार और कफ की समस्या है तो वह भारत के एयरपोर्ट पर इस बात का सेल्फ-डिक्लरेशन करें। भारत ने सात एयरपोर्ट पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी शुरू की है।

MoCA का एक्शन प्लान
एविएशन मिनिस्ट्री (MoCA) ने स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाइजरी का सख्ती से पालन करने लिए एक्शन प्लान तैयार किया है। चीन और हांगकांग से संचालित होने वाली फ्लाइट्स पर मौजूद पैसेंजर्स के सेल्फ-डिक्लरेशन फॉर्म की एयरपोर्ट के स्वास्थ्य अधिकारी (APHO) जांच करेंगे। एविएशन मिनिस्ट्री ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता एयरपोर्ट के बाद बेंगलुरु, हैदराबाद और कोचीन एयरपोर्ट पर चीन और हांगकांग से उड़ान भरने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था करने को कहा। 

24 जनवरी को चीनी नव वर्ष
भारत की ओर से ये एडवाइजरी ऐसे समय में आई है जब 24 जनवरी को चीनी नव वर्ष मनाया जाएगा। ये सबसे महत्वपूर्ण हॉलिडे सीजन है। स्थानीय लोगों को इस त्योहार की शुरुआत में सात दिन की छुट्टी मिलती है। कई चीनी एयरलाइंस और दो भारतीय कैरियर - एयर इंडिया और इंडिगो की दोनों देशों के बीच सीधी उड़ानें हैं। एयरलाइंस स्टाफ सेल्फ-डिक्लरेशन फॉर्म भरने के लिए यात्रियों को गाइड करेगा।  

कोरोनावायरस का नया प्रकार
शोधकर्ताओं के अनुसार ये वायरस एक नए प्रकार का कोरोनावायरस है। चीन में कोरोनावायरस से लगभग 300 लोग संक्रमित हुए हैं। 1960 के दशक में कोरोनावायरस पहली बार मनुष्यों में पाए गए थे। आम तौर पर इससे केवल बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ जैसी शिकायतें होती है। हालांकि इस वायरस का नया रूप काफी घातक है। अधिकारियों का मानना ​​है कि 11 मिलियन लोगों के शहर में हुआनान सीफूड होलसेल मार्केट प्रकोप का केंद्र है। इसे 1 जनवरी को बंद कर दिया गया था।

वायरस के ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रांसमिशन की पुष्टि नहीं
स्वास्थ्य अधिकारियों ने अभी तक इस वायरस के ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रांसमिशन की पुष्टि नहीं की है। हालांकि डब्ल्यूएचओ और वुहान के स्वास्थ्य अधिकारियों ने इस संभावना से इनकार नहीं किया है कि यह वायरस संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से नहीं फैल सकता। डब्ल्यूएचओ ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि इसके फैलने के तरीके के बारे में पता लगाने के लिए अतिरिक्त जांच की आवश्यकता है।'

वायरस से खुद को कैसे सुरक्षित रखें?
यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने बयान जारी करते हुए यात्रियों को वुहान में जानवरों के बाजारों में जाने से बचने की सलाह दी है। इसके अलावा ये भी कहा गया है कि वह बिना पका मीट न खांए। लोगों से कहा गया है कि वह इस रोग से संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से बचे और अपने हाथों को साबुन और पानी से बार-बार धोए। डब्ल्यूएचओ ने स्पसफिक ट्रेवल वॉर्निंग जारी नहीं की है।