दैनिक भास्कर हिंदी: योगी के मंत्री का बीजेपी पर हमला, कहा- 325 सीटों के नशे में पागल हो गए हैं ये लोग

March 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओमप्रकाश राजभर ने अपनी ही सरकार को घेरते हुए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि 'योगी सरकार गरीबों की बजाय सिर्फ मंदिरों पर ध्यान दे रही हैं। मैंने कई बार अपनी चिंता जाहिर की है, लेकिन ये लोग 325 सीटें लेकर पागल होकर घूम रहे हैं।' ओमप्रकाश राजभर ने ये भी कहा कि उनकी पार्टी NDA का हिस्सा है, लेकिन बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही है। वहीं इस बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता और कैबिनेट मिनिस्टर सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि सरकार में भी रहें और उसकी आलोचना भी करें। ये दोनों काम साथ-साथ नहीं हो सकते। 

ओमप्रकाश राजभर ने क्या कहा? 

योगी सरकार में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ और कैबिनेट मिनिस्टर ओमप्रकाश राजभर ने योगी सरकार को घेरते हुए कहा है कि 'योगी सरकार का पूरा ध्यान सिर्फ मंदिरों पर ही है। ये सरकार उन गरीबों पर ध्यान नहीं दे रही हैं, जिन्होंने वोट दिया है।' उन्होंने आरोप लगाया कि 'सरकार की तरफ से बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं, लेकिन जमीन पर कुछ होता दिखाई नहीं दे रहा है।' राजभर ने आगे कहा कि 'हम योगी सरकार और NDA का हिस्सा हैं, लेकिन बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही है। मैंने कई बार अपनी चिंता भी जाहिर की है, लेकिन ये लोग 325 सीटों के नशे में पागल होकर घूम रहे हैं।'

UP में मंत्री के काफिले ने बच्चे को कुचला, CM ने मांगी रिपोर्ट

राज्यसभा में बीजेपी को वोट देना तय नहीं

इसके साथ ही ओमप्रकाश राजभर ने ये भी कहा है कि उनकी पार्टी राज्यसभा चुनावों में बीजेपी को वोट देगी या नहीं, इसपर अभी फैसला नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि 'हमसे अभी तक न तो बीजेपी ने कोई बात की है और न ही विपक्ष ने। इसलिए हमने अपने सारे विकल्प खुले रखे हैं। हम बीजेपी नहीं, बल्कि अलग पार्टी हैं।' उन्होंने बीजेपी पर गठबंधन को अनदेखा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि 'गठबंधन धर्म के तहत बीजेपी ने न तो कैंडिडेट तय करते वक्त हमसे कुछ पूछा और न ही नॉमिनेशन के लिए हमें बुलाया। ये लोग कहते कुछ और हैं, करते कुछ और हैं। संगठन से लेकर सरकार तक के किसी कार्यक्रम में हमें पूछा नहीं जाता और न ही हमसे कोई राय ली जाती है। क्या गठबंधन में हमें सिर्फ हाजिरी देने के लिए रखा है? अह आंख मूंद कर हर फैसले के साथ खड़े नहीं हो सकते।'

सरकार में रहकर उसकी बुराई ठीक नहीं : बीजेपी

वहीं ओमप्रकाश राजभर के बयान पर बीजेपी नेता और योगी सरकार में हेल्थ मिनिस्टर सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि 'ओपी राजभर हमारे मंत्री और सहयोगी हैं। अगर उनको कोई दिक्कत है तो उन्हें कैबिनेट के सामने रखना चाहिए, जनता में नहीं। आप सरकार का हिस्सा भी हों और सरकार की आलोचना भी करते रहें, ये दोनों काम साथ-साथ नहीं हो सकते हैं।' उन्होंने कहा कि 'यूपी में योगी सरकार के आने से पहले राज्य के बारे में सिर्फ गुंडाराज, बिजली कटौती, परीक्षा में धोखाधड़ी जैसी खबरें आती थीं, लेकिन सत्ता में आने के साथ ही 1 साल में हमने अपराध और धोखाधड़ी में कमी की है। यहां पर स्वास्थ्य और बिजली सेवाओं में सुधार हुआ है। यूपी विकास के रास्ते पर चल रहा है।'

हमसे मदद लेती, तो गोरखपुर में नहीं हारती : राजभर

इससे पहले गोरखपुर-फूलपुर उपचुनावों में बीजेपी की हार पर भी ओमप्रकाश राजभर ने कहा था कि बीजेपी की हार इसलिए हुई क्योंकि उन्होंने हमसे मदद नहीं ली। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि 'उपचुनावों में बीजेपी ने हमसे कोई मदद नहीं ली। अगर हमारी पार्टी से बीजेपी मदद लेती तो कम से कम गोरखपुर में तो नहीं हारती, क्योंकि इतने वोट तो हमारे समाज के लोग बीजेपी को हमारे कहने से ही दे देते।' वहीं फूलपुर उपचुनावों के नतीजे पर राजभर ने कहा था कि 'फूलपुर में हमारी पार्टी अगर मदद करती तो क्या नतीजे होते? इस पर तो कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन इतना तो दावा हम कर सकते हैं कि समाजवादी पार्टी की जीत का अंतर बहुत कम होता।'