comScore

भड़काऊ बयान: AIMIM नेता बोले- 100 करोड़ हिंदुओं पर भारी हैं 15 करोड़ मुसलमान

भड़काऊ बयान: AIMIM नेता बोले- 100 करोड़ हिंदुओं पर भारी हैं 15 करोड़ मुसलमान

हाईलाइट

  • वारिस पठान का विवादित बयान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में बीते 66 दिनों से CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी बीच ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता वारिस पठान ने सांप्रदायिक और भड़काऊ बयान दिया है। उन्होंने कहा कि 'आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती उसे छीनकर लेना पड़ेगा।' उन्होंने आगे कहा कि 'हम (मुसलमान) 15 करोड़ हैं, लेकिन 100 करोड़ (हिंदू) पर भारी हैं।'

शाहीन बाग पर बैठी महिलाओं को बताया शेरनी
AIMIM के पूर्व विधायक वारिस पठान ने हिंदुओं के खिलाफ जहर उगलते हुए कहा कि 'हमारी (मुसलमान) जबान की आतिशबाजी का मुकाबला ये (हिंदू) नहीं कर सकते। अब हमने ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है, मगर इकट्ठा होकर चलना पड़ेगा।' दिल्ली के शाहीन बाग में CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन पर वारिस पठान ने कहा कि 'हमको कह रहे हैं कि अपनी मांएं - बहनों को आगे भेज दिया और खुद छिप गए हैं। अभी तो सिर्फ शेरनियां बाहर निकली हैं और तुम्हारे पसीने छूट गए। समझ लो कि अगर हम लोग साथ में आ गए तो क्या होगा?'

मैं माफी नहीं मांग रहा
अपने दिए गए बयान पर वारिस पठान ने कहा कि 'वारिस पठान आखिरी व्यक्ति हैं जो किसी भी धर्म या देश के खिलाफ बोलेगा। मेरे बयान को गलत बताकर उसे मोड़ दिया जा रहा है। मैं माफी नहीं मांग रहा हूं। यह भाजपा है, जो भारतीयों को अलग करने की कोशिश कर रही है।'

महिलाएं बच्चे और कुछ बुजुर्ग भी प्रदर्शन में शामिल
गौरतलब है कि करीब दो महीने से ज्यादा समय से शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन जारी है। इसमें हजारों लोग शामिल हो रहे हैं, जिनमें महिलाएं, बच्चे और कुछ बुजुर्ग भी मौजूद हैं। इन्हीं में से एक बुजुर्ग महिला ने सरकार को खुली चुनौती दी थी। उन्होंने कहा था कि 'यदि सरकार पीछे नहीं हटेगी, तो हम भी एक इंच पीछे नहीं हटेंगे। बेहद तल्ख अंदाज में बुजुर्ग महिला ने कहा था कि 'हम मरने से नहीं डरते।' इन महिलाओं की मांग है कि सरकार CAA वापस ले, नहीं तो उनका प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा।

कमेंट करें
1UMT2
कमेंट पढ़े
prakash lodha February 21st, 2020 14:51 IST

अनुराग ठाकुर के गद्दारो को गोली मारने वाले बयान के समुचे विपक्ष ने भाजपा पर निशाना साधा था फिर वारिस पठान के इस दो समुदायो को भड़काने वाले बयान पर समुचा विपक्ष मौन क्यो है विपक्ष के मौन क्या बयान से सहमति माना जाये