comScore
Dainik Bhaskar Hindi

डिवीजन का 54 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 12th, 2019 19:49 IST

405
0
0
डिवीजन का 54 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। नगर के वैनगंगा संभाग कार्यपालन यंत्री के कार्यालय में पदस्थ उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम को लोकायुक्त पुलिस ने कार्यालय में आज 12 फरवरी को ठेकेदार से 54 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा। उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम के पास से लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत के रूप में ठेकेदार द्वार दिए गए 2-2 हजार रुपए के 27 नोट बरामद किए । इस कार्यवाही के बाद लोकायुक्त पुलिस ने उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम के घर को भी खंगाला।

कायदी निवासी शिकायतकर्ता शेख जलाल खान ने बताया कि वैनगंगा संभाग अंतर्गत लालबर्रा के चंद्रपुरी में चेन क्रमांक 1115 में 29 लाख रुपए की लागत से पुलिया का निर्माण किया है, जिसका निर्माण पूरा हो गया है। उस निर्माण की अंतिम बिल लगभग 5.50 लाख के भुगतान के ऐवज में उपयंत्री ने 54 हजार रुपए की मांग की थी। जिससे ठेकेदार काम करने के बावजूद भुगतान नहीं होने और भुगतान के ऐवज में रुपए मांगने से परेशान था। ठेकेदार ने इसकी शिकायत जबलपुर लोकायुक्त पुलिस को की थी।

घर की भी ली गई तलाशी
शिकायतकर्ता ठेकेदार शेख जलाल खान की शिकायत को जांचने के बाद लोकायुक्त पुलिस डीएसपी दिलीप झरवड़े की अगुवाही में निरीक्षक स्वप्निल दास, कमलसिंह उईके, आरक्षक जुबेद खान, अतुल श्रीवास्तव और राकेश विश्वकर्मा ने योजनाबद्व तरीके से उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया।

वैनगंगा डिवीजन कार्यपालन यंत्री कार्यालय में रंगेहाथ रिश्वत लेते पकड़ाए विभागीय उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम से रिश्वत की रकम बरामद करने के बाद लोकायुक्त पुलिस उपयंत्री राजेन्द्र मेश्राम को लेकर घर पहुंची और वहां भी लोकायुक्त पुलिस ने कई दस्तावेज खंगाले। इस मामले में लोकायुक्त पुलिस डीएसपी दिलीप झरवड़े ने बताया कि शिकायतकर्ता की शिकायत में लोकायुक्त पुलिस द्वारा कार्यवाही की गई है। जिसमें उपयंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

इनका कहना है
वैनगंगा संभाग के उपयंत्री ने विलेज रोड के निर्माण के लिए ठेकेदार से 54 हजार रुपए की मांग की थी। जिसकी शिकायत के बाद उपयंत्री को रिश्वत लेते हुए आज रंगेहाथ पकड़ा गया है। उपयंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।
दिलीप झरवड़े, डीएसपी, लोकायुक्त पुलिस

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download