comScore

पहले जीप से ठोकर मारकर गिराया फिर कुचलकर की थी कम्प्यूटर ऑपरेटर की हत्या 

पहले जीप से ठोकर मारकर गिराया फिर कुचलकर की थी कम्प्यूटर ऑपरेटर की हत्या 

डिजिटल डेस्क अनूपपुर /कोतमा ।  कोतमा भालूमाडा मुख्यमार्ग मे 12 अक्टूबर चारपहिया वाहन की चपेट में कम्प्यूटर ऑपरेटर का कार्य करने वाले भगवानदीन निषाद की मौत हो गई थी।  पुलिस ने चालकों के विरूद्ध 304 ए का मामला पंजीबद्ध कर लिया था। जिसके बाद मृतक के परिजनों द्वारा इसे हादसा नहीं बल्कि हत्या का मामला बताते हुए मामले की जांच की मांग की थी।  पुलिस ने विवेचना के दौरान पाया कि मृतक का गांव में ही कुछ व्यक्तियों से जमीन को लेकर विवाद था। पुलिस ने जब इस एंगल से घटना की तहकीकात की तो सच सामने आ गया। पता चला कि कम्प्यूटर ऑपरेटर की मौत हादसा नहीं थी। बल्कि उसे साजिशन बोलरो से रौंद दिया था।  
 दोनों आरोपी गिरफ्तार 
 पुलिस ने भगवानदीन निषाद की हत्या के मामले में आरोपी  रामशिरोमणि निषाद उम्र 56 वर्ष निवासी फतेहपुर हालमुकाम गेट दफाई भालूमाडा एवं कामता पटेल उम्र 31 वर्ष पिता अमृतलाल पटेल निवासी कदमटोला कोतमा को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से दुर्घटना को अंजाम देने वाली बोलरो वाहन को भी जब्त किया है। मामले मे पुलिस ने आरोपियो के खिलाफ  302,120बी आईपीसी की धारा बढ़ा दी है। 
मकान बेचे जाने को लेकर दोनों में था विवाद   
 हत्या के बारे मे थाना प्रभारी आरके बैस ने बताया कि भगवानदीन निषाद एवं रामशिरोमणि के बीच पूर्व से जमीन विवाद  एक निर्मित मकान को बेचे जाने को लेकर चल रहा था । जिसका बदला लेने के लिए रामशिरोमणि द्वारा  4 माह पूर्व हत्या करने की योजना बनाई  थी।  जिसके लिए आरोपी के द्वारा आदतन बदमाश कामता पटेल को अपने  इस योजना  में शामिल किया। भगवानदीन प्रतिदिन कोतमा के सिंह कम्प्यूटर मे काम करने जाता है। मौका पाकर 12 अक्टूबर को सुबह लगभग 10 बजे आरोपी अघोरी आश्रम के पास छिपे थे और जैसे ही भगवानदीन दो पहिया वाहन से कोतमा के लिए निकला  कामता पटेल ने पीछे से गाड़ी से टक्कर मारकर गिरा दिया। फिर टायर से कुचलकर उसकी हत्या करते हुए वाहन लेकर फरार हो गया। 
छग में जमा किया था वाहन
पुलिस ने हादसे में शामिल वाहन को छत्तीसगढ के पेन्ड्रा-गौरेला के गैराज से जब्त किया है। अपराध छिपाने की नीयत से आरोपी वाहन में पेंटिग एवं सुधार कार्य करा रहा थे। वाहन पर आर्मी का स्टीकर भी फर्जी रूप से लगा था। मामले का खुलासा एसपी  किरणलता केरकेट्टा, एएसपी अभिषेक राजन के नेतृत्व मे एसआई उपेन्द्र त्रिपाठी, विवेक द्विवेदी, अरविन्द्र दुबे एवं गोविन्द प्रजापति शामिल रहे। 
इनका कहना है 
गहन विवेचना एवं साक्ष्यो के आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया गया। साजिशकर्ता एवं चालक को गिरफ्तार करते हुए कार्यवाही जारी है। 
 राकेश बैस थाना प्रभारी कोतमा 
 

कमेंट करें
wLAmj