comScore

आयुर्वेद में मिलेगा झड़ते बालों को रोकने का तरीका 

September 01st, 2018 10:32 IST


डिजिटल डेस्क। भारत की प्राचीन चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद की अहमियत आज के दौर में और भी बढ़ गई है। एलोपैथिक दवाइयों से शरीर की तकलीफों को कम करने की कोशिश में हमने कई तरह के साइड इफेक्ट्स भी मोल लिए हैं। ऐसे में हमारे लिए आयुर्वेद एक वरदान की तरह ही है, जो न केवल रोगों से मुक्त करता है, बल्कि बिना कोई नुकसान पहुंचाए उन्हें जड़ से खत्म कर देता है। आज के इस व्यस्त जीवन में बालों का झड़ना एक आम समस्या है और इसे रोकने के लिए कई तरह के केमिकल युक्त शैंपू या कंडीशनर सुझाए जाते हैं। इससे बालों की मूल समस्या तो खत्म होती नहीं उल्टी बढ़ जाती है। बालों के झड़ने के कारण और उनका संपूर्ण निदान आयुर्वेद में सरलता से मिलता है।   

बालों के झड़ने का कारण 

आयुर्वेद के अनुसार पित्त दोष का शरीर में तेज़ी से बढ़ने से बाल झड़ने लगते हैं। स्पाइसी, तेज़ मिर्च मसाला, अलकोहल, मांस, स्मोकिंग, तली हुई चीज़ें और एसिडिक फूड ये सब पित्त को और बढ़ा देते हैं। जिनको भी पित्त दोष रहता है उनके लिए कड़वी सब्जियां जैसे करेला काफी फायदेमंद होता है। 

बालों के झड़ने के और भी कारण हैं जैसे- थाइरॉइड, हाई स्ट्रेस, ड्रग्स, बीमारी, एक दम से वजन कम होना और तेज बुखार। 

बाल झड़ना रोकने के लिए ये करें

सबसे पहले आपका ये जानना जरूरी है कि आपकी लाइफस्टाइल में वो कौन सा कारण है जो आपके शरीर में पित्त दोष को बढ़ा रहा है। एक बार आपको ये पता चल गया तो अपने खान-पान में या कुछ आदतों में बदलाव लाने से पित्त दोष को कम करने में मदद मिलेगी।  

मेडिकल एडवाइस से आप कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन कर सकते हैं। थिकथाकम कषायाम और थिकथाकम घृतम आपकी पाचन क्रिया को बढ़ाने में आपकी मदद करेगा। आयुर्वेद की कुछ टॉनिक्स जैसे नरसिम्हा रसायनम, च्यावनाप्रसम आपके बालो को झड़ने से रोकेगी। 

टिप्स

1. रोजाना व्यायाम काफी जरूरी है। ये दोष को कम करने में मदद करता है और अगर पाचन क्रिया में दिक्कत है तो त्रिफला आपके लिए काफी उपयोगी होगी।   .

2. बाल धोने के बाद हल्के हाथों से मसाज जरूर करें। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और सब्सेकिअस ग्लैंड एक्टिव रहता है। 

3. लेट्यूस और पालक के मिक्सचर के जूस को ज़रूर पिएं। इससे आपके शरीर से आयरन की कमी दूर होगी और ये बालों को बढ़ने में मदद करेगा। यही नहीं गाजर और लेट्यूस का जूस भी काफी फायदेमंद है। 

4. अपने बालों में फेनुग्रीक (मेथी) या ग्रीन ग्राम का पेस्ट बनाकर लगाएं और फिर इसे धो लें। हफ्ते में 2-3 बार लगाने से ये आपके बालों की जड़ों को मजबूती देगा। 

5. प्राचीन थेरेपी जैसे धरा, अभ्यंगम, थाला पोथीचिल, नस्य ये सब भी काफी असरदार होती है। इनसे आपके बालों को और बढ़ने और घने करने में मदद मिलती है। 

डाइट

 बालों के झड़ने को रोकने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है आपकी डाइट। बालों के लिए आयरन और प्रोटीन ऐसे काम करता है जैसे हमारे शरीर के लिए सांसे काम करती है। हरी सब्ज़ियां, फल, सलाद, कच्ची सब्ज़ियों का रोजाना सेवन  करें। नेचुरल शैम्पू को बाल धोने के लिए इस्तेमाल करें। आांवला और शिकाकाई शैम्पू से बाल धोना काफी फायदेमंद है।  

बालों में तेल लगाना और उनकी मसाज करना काफी लाभदायक होता है। बालों में नारियल का तेल हफ्ते में 2-3 बार जरूर लगाएं। नीली भरिगंडी तेल, कुन्तला कंठी तेल, कंजुननयादि तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं। ये तेल अपने बालों  की जड़ों में लगाएं और अच्छे से मसाज करें। ऐसा करने से बालों के झड़ने की समस्या दूर हो जाएगी। 

कमेंट करें
fAHrN