comScore

पड़ोसन का सिर धड़ से अलग कर उसके पति की भी कर दी हत्या, जादू टोना का था संदेह

पड़ोसन का सिर धड़ से अलग कर उसके पति की भी कर दी हत्या, जादू टोना का था संदेह

डिजिटल डेस्क, अनूपपुर। कोतवाली अनूपपुर अंतर्गत ग्राम दुधमनिया में जादू-टोने के संदेह में हत्यारे ने अपने पड़ोस में रहने वाली बुजुर्ग महिला का सिर धड़ से अलग कर दिया । बहशी आरोपी यहीं नहीं रूका बल्कि जब मृतका का पति पुलिस में रिपोर्ट लिखाने जा रहा था तभी रास्ते में उसकी भी उसी तरह हत्या कर दी । इसी थानांतर्गत एक और प्रौढ़ की हत्या की दूसरी वारदात भी घटित हुई । 2 सितंबर की रात से जिले में शुरू हुए हत्या की वारदात का सिलसिला 3 सितंबर की सुबह तक जारी रहा। दोनों ही मामलों में हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

शौच के लिए गई थी महिला

कोतवाली अनूपपुर से लगभग 12 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम दुधमनिया में मंगलवार की सुबह 7.30  बजे जब मृतका बेसहनी गोड़ पति भागवानदीन गोड़ उम्र लगभग 60 वर्ष शौच के लिए जंगल की ओर जा रही थी तभी घर से लगभग एक किलोमीटर दूर शंखु गोड़ उम्र लगभग 43 वर्ष ने गड़ासेनुमा हथियार से बेसहनी की गर्दन पर प्रहार कर दिया। प्रहार इतना जबर्दस्त था कि एक ही बार में उसकी गर्दन धड़ से अलग हो गई। हत्यारा महिला की गर्दन उतारने के बाद अपने साथ ले गया और दफन कर दिया।

निसंतान थे दम्पत्ति 

मृतका की कोई भी संतान नहीं थी, जब वह एक घंटे तक नहीं लौटी तो पति भगवानदीन ने पता तलाश किया जिसके बाद घर से दूर उसका शव बगैर सिर के मिला। भांजे की मदद से शव को घर लेकर आए और पुलिस में शिकायत के लिए जाने लगा। रास्ते  में ही एक बार फिर शंखू गोड़ ने धारदार हथियार से भगवानदीन के गर्दन पर 4 से 5 बार प्रहार किए। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। दोहरे हत्याकांड की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। 

मौके पर पहुंची पुलिस 

दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक श्रीमती किरण लता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन, कोतवाली प्रभारी समेत दलबल मौके पर पहुंचा। जहां ग्रामीणों ने बताया कि जादू टोने के संदेह को लेकर ही शंखू गोड़ और मृत दपंत्ति का विवाद होता रहता था। सुबह भी वह हाथ में हथियार लिए रक्तरंजित कपड़ों  में देखा गया था। प्रारंभिक जांच में ही पुलिस को शंखू गोड़ द्वारा हत्या किए जाने के सबूत मिल गए।  

डॉग स्क्वॉड ने ढूंढा सिर

आरोपी शंखू गोड़ न सिर्फ जादू टोने को लेकर संदेह करता था बल्कि हत्या के बाद भी वह सिर को अपने साथ ले गया। घटना स्थल से लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर जंगल में ले जाकर उसे दफन कर दिया, ऐसा करने के पीछे ग्रामीणों ने बताया कि उनकी मान्यता है कि जब किसी की हत्या होती है तो वह भूत बनकर परेशान करता है इसलिए वह सिर को अपने साथ ले जाकर दफन कर दिया होगा। खून के छीटों और डाग स्क्वॉड की मदद से सिर को ढ़ूंढ लिया गया। 

बाड़ी में हुई हत्या 

2 सितंबर की रात लगभग 11 बजे राजेन्द्रग्राम थानान्तर्गत सरई टोला में गोविंद सिंह पिता अगनू सिंह उम्र 40 वर्ष रात्रि के समय अपने घर के पीछे मकाई के खेत में गया हुआ था। देर रात तक जब वह नहीं लौटा तो परिजनों ने उसकी तलाश की। मकाई के खेत में ही उसका रक्तरंजित शव देखा गया। मृतक के शरीर पर कुल्हाड़ी जैसे हथियार से प्रहार किया गया था। देर रात ही पुलिस को सूचना दी गई, जिसके बाद पुलिस  ने अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए विवेचना प्रारंभ कर दी। 

इनका कहना है 

दोनों ही मामलों में हत्या के आरोपियों की पहचान हो चुकी है। शीघ्र ही गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा।  श्रीमती किरणलता, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर 

कमेंट करें
Enqoe