comScore

जन्माष्टमी पर कृष्णमय हुई मथुरा नगरी, सजाए गए देशभर के मंदिर

जन्माष्टमी पर कृष्णमय हुई मथुरा नगरी, सजाए गए देशभर के मंदिर

हाईलाइट

  • मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान में जन्माष्टमी 24 अगस्त को मनाई जाएगी
  • वृंदावन के इस्कॉन मंदिर, गोकुल व द्वारिकाधीश मंदिर में 24 अगस्त को
  • प्रेम मंदिर, नंदगांव व प्राचीन केशवदेव मंदिर में जन्माष्टमी आज ही मनाई जाएगी

डिजिटल डेस्क। देशभर में शुक्रवार रात 12 बजेश्री कृष्ण के जन्म के साथ जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। त्यौहार पूरे देश धूमधाम से मनाया जा रहा है, जो कि इस बार तिथि मतभेद के चलते दो दिन रहेगा। वहीं श्री कृष्ण की जन्मभूमि मथुरा में 17 अगस्त से आठ दिवसीय आयोजन की शुरुआत हो चुकी है और पूरी मथुरा नगरी कृष्णमय नजर आ रही है। आपको बता दें मथुरा में इस बार जन्माष्टमी का उत्सव पूरी भव्यता के साथ आठ दिनों तक मनाया जा रहा है। ऐसे में यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी किए गए हैं।

मथुरा और वृंदावन के मंदिरों में जन्माष्टमी अलग-अलग दिन मनाई जाएगी। मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान में जन्माष्टमी 24 अगस्त को होगी। इसके अलावा वृंदावन के इस्कॉन मंदिर, गोकुल व द्वारिकाधीश मंदिर में भी जन्माष्टमी का त्यौहार 24 अगस्त को ही मनाया जाएगा। हालांकि, वृंदावन के बांकेबिहारी मंदिर में जन्माष्टमी का त्योहार 23 अगस्त को मनाया जाएगा। वहीं, प्रेम मंदिर, नंदगांव व प्राचीन केशवदेव मंदिर में भी जन्माष्टमी 23 अगस्त को ही मनाई जाएगी।

ईस्कॉन मंदिर में कार्यक्रम
ईस्कॉन के जन्माष्टमी महोत्सव में शोभायात्रा में शहर और बाहर के श्रीकृष्ण भक्त शामिल होंगे। परमहंस लक्ष्मीनाथ गोस्वामी मंदिर में अखंड हरिकीर्तन होगा। गोविंदपुर, सूर्य मंदिर सिदगोड़ा और महाराष्ट्र हितकारी मंडल में बाल गोपाल पूजा और हंडी फोड़ आकर्षण का केंद्र होगा। 

वहीं कर्नाटक के ईस्कॉन का तीन दिवसीय जन्माष्टमी महोत्सव की शुरुआत आज से हो गई है। इसके तहत मंदिर को बेहद सुंदर तरीके से सजाया गया है। वहीं, मंदिर में भक्तों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है, जिसके लिए खासे इंतजाम किए गए हैं। मंदिर के प्रमुख का कहना है कि रात 12 बजे भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

कमेंट करें
d0YSG