comScore

प्रेग्नेंसी में मोबाइल फोन बच्चों पर नहीं डालता बुरा असर

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 07th, 2017 15:56 IST

डिजिटल डेस्क,भोपाल। अब मां बनने वाली महिलाएं बेझिझक मोबाइल यूज कर सकती है। एक रिसर्च में सामने आया है कि प्रेगनेंसी के दौरान मोबाइल फोन का यूज करने से बच्चे पर न्यूरो डेवलपमेंट पर बुरा असर नहीं होगा। रिसर्च के मुताबिक मोबाइल फोन से बच्चों के दिमाग पर दुष्प्रभाव होने की संभावना ना के बराबर होती है। 

शोधकर्ताओं के मुताबिक, प्रेगनेंसी के दौरान मोबाइल फोन से निकलने वाली रेडियो फ्रिक्वेंसी इलेक्ट्रॉमेग्नेटिक फिल्ड बच्चों के न्यूरो डेवलपमेंट से नहीं जुड़ा होता है। नार्वेजियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ के अध्ययन लेखक डॉ एलेनी पापडोपोलू ने कहा, "माना जाता था कि रेडियो फ्रिक्वेंसी इल्कट्रोमेग्नेटिक फील्ड जैसे कि मोबाइल फोन भ्रूण के दिमाग को नुकसान पहुंचाता है, लेकिन हाल ही में की गई रिसर्च के मुताबिक 'गर्भावस्था के दौरान मोबाइल फोन के उपयोग से बच्चे के दिमाग पर बुरा असर नहीं पड़ता है। 

रिसर्च के लिए 45,389 मां-बच्चों पर एनालिसिस किया गया। जिसमें गर्भावस्था के दौरान और बाद में माताओं और बच्चों से डेटा एकत्र किया गया। जिसमें ये सामने आया कि 'केवल मोबाइल फोन के उपयोग से बच्चों के दिमाग पर बुरा असर नहीं होता है।'

साथ ही ये भी पाया गया कि जिन बच्चों की मांओं ने प्रेगनेंसी के दौरा मोबाइल फोन का इस्तेमाल कम किया उन बच्चो पर लगातार मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वाली मांओं की तुलना में रचनात्मकता होने की संभावना 18 प्रतिशत कम होती है ।


 

Similar News
कॉफी पीने से कम होता डायबिटीज का खतरा

कॉफी पीने से कम होता डायबिटीज का खतरा

वो कौन सा मोड़ है उम्र का...जिसमें रहता है सबसे ज्यादा तनाव?

वो कौन सा मोड़ है उम्र का...जिसमें रहता है सबसे ज्यादा तनाव?

रिसर्च में आया सामने, स्टेमिना में औरतें पुरुषों से आगे

रिसर्च में आया सामने, स्टेमिना में औरतें पुरुषों से आगे

प्यार में भी होती है उम्र की सीमा, रिसर्च में हुआ दावा

प्यार में भी होती है उम्र की सीमा, रिसर्च में हुआ दावा

महिलाओं को ज्यादा आकर्षित करते हैं लहसुन खाने वाले, रिसर्च में आया सामने

महिलाओं को ज्यादा आकर्षित करते हैं लहसुन खाने वाले, रिसर्च में आया सामने

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l