comScore

01 मई से लागू हुए SBI के ये नियम, ग्राहकों को होगा ये फायदा  

01 मई से लागू हुए SBI के ये नियम, ग्राहकों को होगा ये फायदा  

हाईलाइट

  • SBI लोन और डिपॉजिट रेट को RBI के रेपो रेट से जोड़ दिया
  • SBI के इस नए नियम से ग्राहकों को सस्ता लोन मिल सकता है
  • SBI के सेविंग्स अकाउंट पर पहले के मुकाबले कम ब्याज मिलेगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक 'स्टेट बैंक ऑफ इंडिया' में 1 मई से कुछ नियमों में बदलाव किया गया है। इसका लाभ करोड़ों ग्राहकों को मिल सकता है। दरअसल SBI ने अपने लोन और डिपॉजिट रेट को सीधे RBI के रेपो रेट से जोड़ दिया है। इस नियम को लागू करने वाला SBI पहला बैंक बन गया है। इस नए नियम से ग्राहकों को सस्ता लोन मिल सकता है, हालांकि नए नियम के लागू होने पर अब से बैंक के सेविंग्स अकाउंट पर पहले के मुकाबले कम ब्याज मिलेगा। आइए जानते हैं 01 मई लागू हुए इस नियम के बारे में...

ऐसे तय होंगी ब्याज दर
बैंक लोन की ब्याज दरें MCLR (मार्जिनल कोस्ट ऑफ फंड बेस लेंडिंग रेट) पर तय करते हैं, जिससे कई बार ऐसा होता था कि रेपो रेट में कटौती के बावजूद बैंक MCLR में कोई राहत नहीं देता था। वहीं अब नए नियम से ग्राहकों को सीधा फायदा पहुंचने वाला है। रेपो रेट को बैंक दरों से जोड़ने का यह फैसला एक लाख रुपए से ज्यादा के लोन पर लागू होगा।

ये होगा नुकसान  
इस नए नियम का असर अकाउंट धारक पर भी होगा। अब से एसबीआई के सेविंग खाताधारकों को एक लाख रुपए से ज्यादा के डिपॉजिट पर कम ब्याज मिलेगा। एक नोटिफिकेशन क मुताबिक आज से स्टेट बैंक सेविंग्स अकाउंट में 1 लाख रुपए से ज्यादा के अमाउंट पर 0.25-0.75 फीसदी तक कम ब्याज मिलेगा। 1 लाख रुपए तक के बैलेंस पर अब 3.50 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। वहीं, 1 लाख से ऊपर के बैंलेस पर ब्याज की दर 3.25 फीसदी होगी।

ये होगा लाभ
RBI ने रेपो रेट में चौथाई फीसदी की कटौती की थी। इसके बाद SBI समेत कई बैंकों ने होम और ऑटो लोन की ब्याज दरें घटा दी हैं। SBI से 30 लाख रुपए तक के लोन पर 0.10 फीसदी कम ब्याज देना पड़ेगा। फिलहाल 30 लाख रुपए तक के लोन की ब्याज दर 8.60 से 8.90 फीसद के बीच है। इससे पहले यह दर 8.70 से 8.90 फीसदी तक थी। SBI ने अपनी MCLR भी 0.05 फीसदी कम कर दिया है।

ऐसे तय होंगी दरें
एक रिपोर्ट के मुताबिक आज से एक लाख रुपए से ज्यादा के सभी सेविंग बैंक डिपॉजिट और शॉर्ट-टर्म लोन आरबीआई के बेंचमार्क रेपो रेट से जोड़े जाएंगे। रेपो रेट अभी 6 फीसदी है, बैंकों को रेपो रेट पर ही आरबीआई कर्ज देता है, जबकि सेविंग बैंक की दरें रेपो रेट से 2.75 फीसदी कम होंगी। वहीं, एक लाख रुपए से ज्यादा के छोटी अवधि वाले लोन पर रेपो रेट से 2.25 फीसदी अधि‍क ब्याज रखा जाएगा। 

कमेंट करें
73kpI