comScore

ब्रह्म मुहूर्त में खुले बाबा केदारनाथ के कपाट, अगले 6 महीने तक होंगे दर्शन


हाईलाइट

  • ब्रह्म मुहूर्त में खुले भगवान केदारनाथ के कपाट
  • अगले 6 महीने तक भगवान केदारनाथ के दर्शन कर सकेंगे भक्त
  • 11,755 फुट की ऊंचाई पर बर्फ के बड़े-बड़े पहाड़ों के बीच विराजमान भगवान केदारनाथ

डिजिटल डेस्क,रुद्रप्रयागउत्तराखंड के चार धाम यात्रा के तीसरे पड़ाव कहे जाने वाले भगवान केदारनाथ धाम मंदिर के कपाट आज (गुरुवार) सुबह ब्रह्म मुहूर्त में 5 बजकर 35 मिनट पर खोल दिए गए। कपाट पूरे विधान के साथ पंडितों ने मंत्रोच्चारण के बाद खोले इस दौरान ऊखीमठ से लाई गई भगवान केदार की गद्दी को दोबारा मुख्य मंदिर में स्थापित किया गया। कपाट खोलने के साथ ही बाहर कतार में लगे भक्तों ने भगवान केदारनाथ के दर्शन किए। बता दें अब भक्त अगले 6 महीने तक भगवान केदारनाथ के दर्शन कर सकेंगे। 

कपाट खोलने की तारीख और समय की घोषणा महाशिवरात्रि के अवसर पर रुद्रप्रयाग जिले के उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में की गई थी। इससे पहले पंचगद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से सोमवार को केदार बाबा की पंचमुखी उत्सव डोली केदारपुरी के लिए रवाना हुई थी। बुधवार शाम डोली केदारनाथ धाम पहुंची। जहां गौरीकुंड में रात्रि विश्राम के बाद बुधवार सुबह केदारनाथ धाम के मुख्य पुजारी केदार ने पंचमुखी मूर्ति को भोग लगाया और विशेष पूजा अर्चना की।

सुबह कपाट खुलने के साथ ही सुबह सात बजे गौरीकुंड स्थित गौरी माई मंदिर में मुख्य पुजारी केदार लिंग ने पूजा अर्चना की भगवान का श्रृंगार करके भोग लगाया। इसके बाद प्रात: आठ बजे डोली ने अपने धाम के लिए प्रस्थान किया। जंगलचट्टी, भीमबली, रामबाड़ा, लिनचोली होते हुए दोपहर बाद दो बजे बाबा की डोली केदारनाथ मंदिर में पहुंची।

रास्ते भर भक्तों ने डोली का फूल मालाओं से स्वागत किया। मंदिर परिसर में अभी 4-5 फुटबर्फ जमी हुई है, भक्तों को परेशानी न हो इसलिए केदारनाथ धाम मंदिर प्रशासन  मंदिर जाने वाले मार्ग को साफ कर दिया गया है। आपको बता दें कि 11,755 फुट  की ऊंचाई पर बर्फ के बड़े-बड़े पहाड़ों के बीच विराजमान भगवान केदारनाथ के दर्शन के लिए भक्त बहुत कठिन यात्रा करते हुए यहां पहुंचते हैं। 

बता दें कि इस यात्रा की शुरुआत 7 मई मंगलवार यानी अक्षय तृतीया के शुभअवसर पर हुई। इस यात्रा में गंगा का उद्गम मानने जाने वाले गंगोत्री धाम के कपाट मंगलवार सुबह 11:30 बजे खोले गए। वहीं उत्तरकाशी जिले की यमुना घाटी में स्थित यमुनोत्री के कपाट इसी दिन दोपहर 1:15 बजे खोले गए। 

कमेंट करें
UPSic