comScore

 ईट चोरी के विवाद पर हत्या, दो गंभीर

 ईट चोरी के विवाद पर हत्या, दो गंभीर

डिजिटल डेस्क, अनूपपुर । मंगलवार 9 जुलाई का दिन जिले के लिए अमंगलकारी रहा। जिला मुख्यालय में ही हत्याकांड की सूचना सुबह 6 बजे कोतवाली प्रभारी को मिली। एक की हत्या की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को घटना स्थल से 2 शव बरामद हुए। वहीं इस घटना में दो महिलाएं भी घायल हुई। जिला मुख्यालय में घटित दोहरे हत्याकांड से नगर में सनसनी फैल गई। मृतकों की पहचान मुरली मनोहर सोनी उर्फ मुक्कू पिता हेमराज सोनी निवासी वार्ड क्रमांक 11 तथा  फूलचंद गोंड पिता जोगीराम गोंड उम्र 60  वर्ष निवासी शांति नगर के रूप में की गई। वहीं घायल हुई दो महिलाएं संपत बाई गोंड पति स्व. दुर्जन सिंह गोंड व गुड्डी कोल के रूप में की गई है जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। 
 

ईट चोरी का विवाद 
मृतक फूलचंद गोंड डिंडौरी जिले के कोयलारी ग्राम से आकर बीते एक दशक से शांति नगर में झोपड़ी बनाकर रह रहा था। बीते 9 वर्ष से उसकी बहन संपत बाई भी अपने पति की मृत्यु के बाद फूलचंद के साथ रहने लगी थी। संपत बाई ने शांति नगर में सड़क किनारे ही आवास बनाने के लिए 3 मेटाडोर ईट मंगवाई थी। जिसे पड़ोस में रहने वाले शहजाद मुसलमान ने चोरी करा लिया था।  इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में वाद-विवाद होता रहता था। 
 

घर में घुसकर किया तांडव 
8 जुलाई की शाम भी संपत बाई व शहजाद के घर वालों के बीच ईट को लेकर कहा सुनी हुई। रात्रि लगभग 11 से 12 के बीच शहजाद अपने साथ आधा दर्जन लोगों को लेकर फूलचंद के घर पहुंचा, जहां सबसे पहले  उसने संपत बाई के साथ मारपीट की। संपत बाई घर छोड़कर बाहर भागी। इसके बाद उन्होंने घर में मौजूद फूलंचद पर ताबड-़तोड़ प्रहार कर दिया। फूलचंद को बचाने आए मुरली  मनोहर सोनी पर भी आरोपियों ने हमला कर दिया। अपनी जान बचाने के लिए वह बाहर भागा। जहां उसका पीछा कर उसे भी अधमरा कर दिया गया। हमलावरों ने घर में मौजूद गुड्डी कोल के साथ भी मारपीट की। 
 

पुलिस ने दर्ज किए बयान 
दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक श्रीमती किरण लता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  वैष्णव शर्मा, कोतवाली प्रभारी प्रफुल्ल राय समेत भारी बल मौके पर पहुंचा। घायल दोनो महिलाओं से बयान लेने पर खुलासा हुआ कि मौके पर आए 6 लोगों में से 3 ने शहजाद का साथ दिया था। वहीं शार्ट पीएम में यह भी खुलासा हुआ कि मृतकों की मृत्यु की वजह मारपीट नहीं बल्कि गला दबाकर किए जाने से हुई है। 
 

एक दर्जन से जारी पूछताछ 
9 जुलाई की सुबह 7 बजे से ही पुलिस अधीक्षक  द्वारा घायल महिला के बयान के बाद साक्ष्य व सबूत के आधार पर एक दर्जन से अधिक लोगों को पूछताछ के लिए कोतवाली में बुलाया। पड़ोसियों के भी बयान दर्ज किए जा रहे हैं। वहीं मृतक के मोबाइल के काल रिकार्ड भी खंगाले जा रहे हैं। पुलिस ने इस मामले में शहजाद  व अन्य के विरूद्ध धारा 302, 120बी, 34 के तहत मामला भी पंजीबद्ध किया है। 
 

इनका कहना है 
आरोपियों की पहचान हो चुकी है, उनकी गिरफ्तारी के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। श्रीमती किरण लता, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर
 

कमेंट करें
jGOXI