comScore

CAA: ओवैसी ने PM मोदी पर साधा निशाना, बोले- 'देश को गुमराह कर रहे हैं प्रधानमंत्री'


हाईलाइट

  • CAA और NRC पर पीएम मोदी और शाह पर निशाना साधा
  • देश के बुनियादी ढांचे का उल्लंघन करता है CAA : ओवैसी
  • NRC से ध्यान भटकाने के लिए लोगों को भ्रमित कर रही भाजपा : ओवैसी

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। संसद द्वारा 11 दिसंबर को नागरिकता संशोधन बिल (CAB) पारित किए जाने के बाद से देशभर में कोहराम मचा हुआ है। इस बीच नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और नेश्नल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) को लेकर ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। ओवैसी ने सोमवार को कहा कि 'पीएम मोदी देश को गुमराह कर रहे हैं।'

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ओवैसी ने कहा कि 'मैं जानना चाहता हूं कि पीएम मोदी सच कह रहे हैं या गृहमंत्री अमित शाह झूठ बोल रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा था कि वे देश में CAA और NCR लागू करेंगे और अब वह खुद ही अपनी बात को खारिज कर रहे हैं।' बता दें कि पीएम मोदी ने रविवार को भाजपा की जागरूकता अभियान के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह स्पष्ट किया था कि 'देश के मुसलमानों पर NRC लागू नहीं की जाएगी।' ओवैसी ने CAA को असंवैधानिक बताते हुए कहा कि 'यह मौलिक अधिकारों और देश के बुनियादी ढांचे का उल्लंघन करता है।' 

ओवैसी ने कहा कि 'क्या NRC से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए उन्हें भ्रमित करना भाजपा की राजनीति है।' उन्होंने बताया कि 'CAA धर्म के आधार पर बनाया गया है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हर कोई प्रधानमंत्री के लिए हर कोई बराबर नहीं है, उनकी नजरों में केवल हिंदू सुमदाय के लोग ही शरणार्थी हैं। यदि वे हिंदुओं को नागरिकता दे सकते हैं तो मुसलमानों को क्यों नहीं दे सकते।' ओवैसी ने यह भी बताया कि यदि पीएम मोदी ने कहा कि अमित शाह ने NRC पर सदन में गलत बयान दिया है, तो वह संसद में अमित शाह के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाएंगे।

क्या है CAA?
CAA वह अधिनियम है, जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश जैसे इस्लामिक देशों से भगाए गए गैर मुसलमानों को पनाह देगा। अधिनियम के मुताबिक 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले जिन भी हिंदुओं, सिखों, जैनों, पारसियों, बौद्धों और ईसाईयों ने पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के कारण भारत की पनाह ली हैं, उन्हें भारत की नागरिकता प्रदान करने की कोशिश की जाएगी।

कमेंट करें
QbIdF