इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान: तालिबान के सर्वोच्च नेता ने अधिकारियों से आम माफी का सम्मान करने को कहा

December 31st, 2021

हाईलाइट

  • तालिबान के सर्वोच्च नेता ने अधिकारियों से आम माफी का सम्मान करने को कहा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान के सर्वोच्च नेता ने सरकारी अधिकारियों को उनके द्वारा घोषित आम माफी का सम्मान करने का निर्देश दिया है।

हैबतुल्लाह अखुंद ने गुरुवार को दक्षिणी कंधार प्रांत में गवर्नर हाउस में एक बैठक में अधिकारियों से कहा कि अफगानों को एकता और भाईचारे के साथ रहने की जरूरत है।

तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर अखुंद के निदेशरें को साझा किया है।

बयान में कहा गया है कि बैठक में कंधार के राज्यपाल हाजी मोहम्मद यूसुफ वफा, उप राज्यपाल मौलवी हयातुल्ला मुबारक और पुलिस प्रमुख मुल्ला अब्दुल गफ्फार के साथ-साथ प्रांतीय निदेशकों, जिला गवर्नर और पुलिस प्रमुखों ने भाग लिया।

तालिबान के सर्वोच्च नेता ने कहा कि उनका संघर्ष देश में इस्लामी व्यवस्था को लागू करने के लिए था और उन्हें बेहतर शासन और लोगों के लिए बेहतर आजीविका प्रदान करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी है।

उन्होंने नागरिक और सैन्य अधिकारियों से उनके द्वारा घोषित आम या सामान्य माफी का सम्मान करने और पूर्व सरकारी कर्मचारियों को उनके पिछले अपराधों के लिए दंडित नहीं करने का आग्रह किया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर विदेशों में अफगानों का सम्मान नहीं किया जाता है, तो उन्हें अपनी मातृभूमि नहीं छोड़नी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों से लोगों को अफगानिस्तान में ही रहने के लिए मनाने को भी कहा।

अखुंद ने कर्तव्यों, जिम्मेदारियों और आदेशों के अनुपालन के संबंध में भी सिफारिशें कीं। उन्होंने कहा कि किसी से भी जिम्मेदारी के बारे में नहीं पूछना चाहिए। लेकिन अगर किसी व्यक्ति को जिम्मेदारी सौंपी गई है, तो उसे नेताओं के निर्देशों का पालन करना चाहिए और उस जिम्मेदारी को ठीक से निभाना चाहिए।

उन्होंने कहा, नेतृत्व द्वारा दिए गए सिद्धांतों, नियमों और विनियमों का सख्ती से पालन करें। मनमाने ढंग से कार्य न करें, अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करें ताकि समुदाय का आप पर भरोसा हो।

रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान प्रमुख ने न्याय पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए कहा कि सभी पक्षों के लिए लोगों की बेहतरी के लिए मिलकर काम करना महत्वपूर्ण है।

योग्यता को बनाए रखने पर जोर देते हुए उन्होंने आगाह किया कि दोस्ती, भाई-भतीजावाद और पक्षपात के आधार पर लोगों को नौकरी नहीं दी जानी चाहिए।

सुरक्षा को लेकर मौलवी अखुंद ने संबंधित अधिकारियों से गश्त और तलाशी अभियान के दौरान लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करने का आह्रान किया।

तालिबान प्रमुख की यह सलाह और निर्देश ऐसे समय पर सामने आए हैं, जब अफगानिस्तान की पूर्व सरकार के कर्मियों के लिए आम माफी का ऐलान करने के बावजूद तालिबान का उन पर अत्याचार जारी है।

 

आईएएनएस

खबरें और भी हैं...