दैनिक भास्कर हिंदी: नवजात बच्ची को लेकर भटकता रहा फुटबॉलर, अस्पतालों ने भर्ती नहीं किया

June 10th, 2020

हाईलाइट

  • नवजात बच्ची को लेकर भटकता रहा फुटबालर, अस्पतालों ने भर्ती नहीं किया

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। कोलकाता के क्लब लाइबेरियन के लिए खेलने वाले फुटबॉलर अंशुमान क्रोमाह और उनकी पत्नी को अपनी नवजात बीमार बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, क्योंकि अधिकतर अस्पतालों ने यह कहते हुए उनकी बच्ची को भर्ती करने से मना कर दिया कि वे कोविड-19 मरीजों का इलाज करने में व्यस्त हैं।

क्रोमाह ने कहा कि उनकी बेटी बिंदु की हालत अब बेहतर है और बच्ची को पार्क स्ट्रीट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिछले साल कलकत्ता फुटबॉल लीग (सीएफएल) में ऐतिहासिक खिताब के दौरान पीयरलेस एससी की अगुआई करने वाले क्रोमाह पिछले सप्ताह ही पिता बने थे, लेकिन उनकी नवजात बेटी में पीलिया के लक्षण दिखाई देने लगे।

क्रोमाह और पूजा बिंदु को श्यामबाजार नìसग होम ले गए, जहां उसका जन्म हुआ था लेकिन उन्होंने बेड उपलब्ध नहीं होने के कारण उसे भर्ती करने से इनकार कर दिया। क्रोमाह ने मंगलवार को आईएएनएस से कहा, अब वह अच्छी है और हम डॉक्टर के रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। बच्ची को भर्ती कराने से पहले मुझे काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा। मैं अपनी बेटी के साथ तीन अलग अस्पतालों में गया और एक ने तीन घंटे बैठाने के बाद भर्ती करने से इनकार कर दिया।