दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : नदी, नाले की सफाई 60 फीसदी, 30 मई है ‘डेडलाइन’

May 19th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर से बहने वाली नदियां नाग नदी, पीली नदी और पोहरा नदी तथा शहर के सभी नालों की सफाई की डेडलाइन 30 मई दी गई। इससे पहले सभी जोन से अपने-अपने कार्यक्षेत्र में नदी, नालों की सफाई करने के महापौर दयाशंकर तिवारी ने मनपा प्रशासन को निर्देश दिए। मंगलवार को महापौर ने नदी, नालों के स्वच्छता अभियान का वीडियो कांफ्रेंस बैठक में जायजा लिया। सभागृह में महापौर के साथ निगम सचिव डॉ. रंजना लाडे उपस्थित थीं। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से स्थायी समिति सभापति प्रकाश भोयर, सत्तापक्ष नेता अविनाश ठाकरे, नेता प्रतिपक्ष तानाजी वनवे, धरमपेठ जोन सभापति सुनील हीरनवार, उपनेता वर्षा ठाकरे, नगरसेवक सुनील अग्रवाल, पूर्व सत्तापक्ष नेता संदीप जाधव, नगरसेवक प्रदीप पोहाणे, विक्रल ग्वालबंशी, घनकचरा प्रबंधन उपायुक्त डॉ. प्रदीप दासरवार, मुख्य अभियंता मनोज तालेवार, सभी जोन सहायक आयुक्त व जोन स्वास्थ्य अधिकारी सहभागी हुए।

60 प्रतिशत नदी सफाई आधे नाले बाकी
मुख्य अभियंता मनोज तालेवार ने जोन के अनुसार नदी स्वच्छता की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पोहरा नदी की स्वच्छता का 65 प्रतिशत काम हो चुका है। पीली नदी 60 प्रतिशत साफ हुई है। नाग नदी की 57 प्रतिशत स्वच्छता हुई है। नदी सफाई का औसतन 60 प्रतिशत काम पूरा हुआ है। शहर में 232 नाले हैं। 155 नालों की मानव संसाधन से, जबकि 77 नालों की मशीन से सफाई करनी पड़ती है। मशीन से 21 और मानव संसाधन से 194 नालों की सफाई हो गई है।

नदी के मलबे का पौधों के लिए उपयोग करें
-महापौर ने कहा कि नदी से निकलने वाले मलबे का डिवाइडर पर पौधे लगाने के लिए उपयोग में लाएं। उन्होंने कहा कि नदी में कचरा जमा होने पर निकालने से बेहतर होगा कि कचरा होने ही न दें। इसके लिए जाली लगाकर कचरा रोका जा सकता है। नदी से मलबा निकालने के लिए हर वर्ष नदी की सुरक्षा दीवार तोड़नी पड़ती है। इससे बचने के लिए जहां से मलबा निकाला जाता है, वहां गेट लगाने का नियोजन करने के निर्देश दिए।    

-सतरंजीपुरा जोन सबसे आगे
सतरंजीपुरा जोन में कुल 22 नाले हैं। उसमें से 18 नालों की मानव संसाधन से सफाई करनी पड़ती है। मानव संसाधन से सभी 18 नालों की समय पूर्व सफाई हो चुकी है। महापौर ने अन्य जोन को सतरंजीपुरा जोन से प्रेरणा लेने का आह्वान कर जोन के स्वच्छता दल का अभिनंदन किया।

-नदी किनारे पौधारोपण
नदी स्वच्छता अभियान के साथ ही इस वर्ष तीनों नदियों के किनारे पौधारोपण किया जाएगा। जून महीने के पहले सप्ताह पोहरा नदी से पौधारोपण की शुरुआत होगी। फल व औषधि वनस्पति के पौधे लगाए जाएंगे।