अन्न दिवस पर भुखमरी आई सामने: पीओएस मशीन खराब, गुस्साई जनता

December 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। माह की हर 7 तारीख को "अन्न दिवस' मनाया जाता है। इस दिन सरकारी राशन दुकानों से किसी भी लाभार्थी को खाली हाथ नहीं लौटाया जाता है। फिर भी अनेक लोग झोली खाली लटकाए लौट गए। अनाज नहीं मिलने पर गुस्साए लोगों ने दुकानदारों को खूब खरी-खोटी सुनाई। लोगों का सवाल था कि तकनीकी खराबी के कारण हम भूखे मरें क्या? दुकानदार चाहकर भी इन लोगों को उनके हिस्से का राशन नहीं दे सके। पीओएस मशीन ठप थी। शासन का आदेश है कि जब तक पीओएस मशीन पर बायोमीट्रिक हस्ताक्षर दर्ज नहीं होते, राशन कार्ड धारकों को राशन नहीं दिया जाएगा। मंगलवार को सुबह सरकारी राशन दुकानों के खुलते ही राशन कार्ड धारकांे की भीड़ लग गई थी। लोगों को उम्मीद थी कि अन्न दिवस के मौके पर अनाज जरूरी मिलेगा, लेकिन बैरंग ही लौटना पड़ा। 

मेरा क्या कसूर
पीओएस मशीन बंद है, जिसकी वजह से उन्हें अनाज नहीं दिया जा सका। दूसरी समस्या ब्योरा डिलीट होने की है। जिन लोगों का ब्योरा ही उपलब्ध नहीं उन्हें राशन कैसे दें। शहर भर में यही स्थिति है। हजारों लोगों को राशन नहीं दिया जा रहा। सस्ता राशन नहीं मिलने पर इन लोगों को निजी दुकानों से अनाज खरीदना पड़ रहा है। दुकानदार भी परेशान हैं। - रितेश अग्रवाल, राशन दुकानदार

शासन निर्णय लेगा
सरकारी राशन से वंचित राशनकार्ड धारकों की सूची बनाकर दुकानदार हमें दे तो हम यह सूची राज्य शासन को प्रेषित करेंगे। ब्योरा डिलीट होने की वजह से समस्या उत्पन्न हुई है। एक राशन कार्ड पर यदि 5 लोगों के नाम है और 3 केवायसी डिलीट हुए हैं, तो शेष दो लोगों में से किसी एक की बायोमीट्रिक पहचान कर उस परिवार को राशन दिया जा सकता है। - भास्कर तायड़े, अन्न आपूर्ति अधिकारी