कर्नाटक: कर्नाटक में एसडीपीआई, पीएफआई के ठिकानों पर एनआईए की छापेमारी जारी

September 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। विरोध के बीच गुरुवार को कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले और बेंगलुरु में सोशल डेमोकेट्रिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के नेताओं के कार्यालयों और आवासों पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की छापेमारी जारी है।

बेंगलुरु के रिचमंड टाउन में एसडीपीआई और पीएफआई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पीएफआई के राष्ट्रीय सचिव मोहम्मद शाकिफ के आवास के सामने धरना दिया। कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरसीटी) ने प्रदर्शनकारियों पर काबू पाया।

पीएफआई सचिव अफसर पाशा और एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष नासिर पाशा के बेंगलुरू स्थित आवासों पर भी छापेमारी की गई।कर्नाटक के सिरसी और कोप्पल शहरों में भी छापेमारी की गई है। सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने 12 जगहों पर छापेमारी की।छापेमारी हिंदू कार्यकर्ताओं की हत्या की पृष्ठभूमि में की जा रही है। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई और गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कई बार अपने बयान में कहा था कि वे उन नेटवर्क को जड़ से खत्म कर देंगे, जो हिंदू कार्यकर्ताओं को मारने में शामिल है।

मंगलुरु के नेल्लिकाई रोड स्थित एसडीपीआई के मुख्यालय पर भारी पुलिस सुरक्षा घेरे के साथ जैसे ही छापेमारी शुरू हुई, एसडीपीआई के सैकड़ों कार्यकर्ता मौके पर जमा हो गए और एनआईए से छापेमारी रोकने की मांग की। उन्होंने एनआईए के खिलाफ वापस जाओ के नारे भी लगाए।

मंगलुरु के पुलिस आयुक्त एन. शशिकुमार अतिरिक्त बल के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओ को शांत कराने की कोशिश की। इस दौरान 60 से अधिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया और भीड़ को तितर-बितर कर दिया। इस बीच, पुलिस आयुक्त शशिकुमार ने लोगों से सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रही खबरों पर ध्यान न देने की अपील की।

एनआईए ने गुरुवार तड़के तीन बजे छापेमारी शुरू की। एसडीपीआई नेता अताउल्ला जोकट्टे ने कहा है कि उनके तीन नेताओं अशरफ, मोहियुद्दीन हलियांगडी और नवाज कावूर को एनआईए ने हिरासत में लिया है। हालांकि इस संबंध में अभी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.