• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • The meeting of the District Crisis Management Group chaired by Home Minister Dr. Narottam Mishra will open on June 1 on even and odd dates!

दैनिक भास्कर हिंदी: गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र की अध्यक्षता में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सम्पन्न 1 जून से सम एवं विषम तिथियों में खुलेगी दुकानें!

May 31st, 2021

डिजिटल डेस्क | दतिया मध्यप्रदेश शासन के गृह, जेल, संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी कार्य विभाग के मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में सदस्यों ने सर्व सम्मति से जिले में कोरोना के प्रकरणों की कमी को देखते हुए 1 जून 2021 से जनता कोरोना कर्फ्यू में ढ़ील दी जाकर सम एवं विषम तिथियों में दुकानें खोली जायेगी। चिकित्सा महाविद्यालय दतिया के सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर श्री संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर, पूर्व विधायक डॉ. आशाराम अहिरवार सहित क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सम्मानीय सदस्यगण तथा अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

बैठक के शुरू में उपस्थित सदस्यों ने डेढ़ माह से लागू जनता कोरोना कर्फ्यू को बहाल कर एक सप्ताह तक बाजार खोलने हेतु अपने-अपने सुझाव दिए। बैठक में सुझाव उपरांत सर्व सम्मति से दतिया जिले की सम्पूर्ण सीमा क्षेत्र के अंतर्गत विषम तिथियों 1 जून 3 जून, 5 जून 2021 आदि को किराना, ऑटो मोबाईल, स्टेशनरी, फोटो कांपी, साईकिल, टायर, जूता चप्पल, चशमें, कंस्ट्रशन सामान एवं हार्ड वेयर की दुकानें प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे तक। जबकि सम तिथियों में 2 जून, 4 जून, 6 जून 2021 आदि को वस्त्र एवं रेण्ड़ीमेट, आभूषण, मोबाईल, इलेक्ट्रोनिक्स, जनरल स्टोर, फोटो स्टूड़ियों, बर्तन, कृषि उपकरण, खाद एवं बीज की दुकाने प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे तक खोली जा सकेगी। जबकि 1 जून 2021 से सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक सब्जी, फल एवं फूल का विक्रय नगर पालिका एवं नगर पंचायतों द्वारा चिन्हित स्थानों पर किया जा सकेगा।

दूध एवं दूध उत्पादकों की दुकाने प्रातः 6 बजे से प्रातः 10 बजे तक और सायंकाल 6 बजे से रात्रि 8 बजे तक खोली जा सकेगी। समस्त प्रकार के उद्योग एवं उद्योग गतिविधियां चालू रह सकेगी। इसी प्रकार मोहल्लों, कालौनियों एवं ग्रामों में एकल दुकानें पूरे समय खोली रखी जा सकेगी। शादियों के माामले में दोनो पक्षों को मिलाकर 20 लोग शामिल हो सकेंगे। इसके लिए संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय दण्ड़ाधिकारी को अतिथियों के नाम की सूची प्रदाय कर अनुमति लेनी होगी। कोरोना के बचाव के लिए वैक्सीन ही संजीवनी है गृह मंत्री डॉ. मिश्र ने जिले में कोरोना की समीक्षा करते हुए कहा कि हमें सावधानी एवं सर्तकता वरतते हुए ऐसा रास्ता निकालना है कि लोग कोरोना से सुरक्षित भी रहें और लोगों के रोजगार-धंधे भी प्रभावित न हो। उन्होंने कहा कि कोरोना के बचाव के लिए वैक्सीन ही संजीवनी है।

अतः हमें लोगों को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाने हेतु प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने कोरोना का टीका लगवाया है उनमें कोरोना का खतरा कम हुआ है और मृत्यु के प्रकरण भी सामने नहीं आए है। उन्होंने कहा कि जिस क्षेत्र से लोगों द्वारा टीकाकरण की मांग की जावे उस क्षेत्र में प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण दल भेजकर लोगों को टीके लगाये जाये। लोगों को बताया जाए कि जब देश के प्रधानमंत्री, प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित मंत्रीगण एवं अधिकारियों द्वारा कोरोना से बचाव हेतु टीका लगवाया है तो स्वयं एवं परिवार के सदस्यों की सुरक्षा को देखते हुए टीका लगवाकर परिवार को सुरक्षित रखें। टीकाकरण के संबंध में जो भ्रांतियां एवं अफवाहे फैलाई जा रही है उन पर ध्यान न दें।

गृह मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि जिस प्रकार हम मलेरिया एवं अन्य बीमारियों के साथ जीना सीख लिया है इसी प्रकार हमें कोरोना के साथ भी जीना सीखना होगा। उन्होंने कोरोना के तीसरी लहर की जिले की गई तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि टीकाकरण हमारी प्राथमिकता है। बैठक में कलेक्टर श्री संजय कुमार ने जिले में कोरोना की चैन तोड़ने एवं किल कोरेाना अभियान तथा कोरोना की तीसरी लहर से बचाव हेतु किए जाने वाली तैयारियों के संबंध में जानकारी दी। बैठक के शुरू में पेरामेडीकल कॉलेज के सहायक प्राध्यापक डॉ. पी. अधिकारी ने पावर प्रजेनटेशन के माध्यम से जिले में कोरोना के संक्रमण की तीसरी लहर को रोकने हेतु की जा रही व्यवस्थाओं एवं तैयारियों की जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में 280 विस्तर है। और इसके अतिरिक्त 175 विस्तर बढ़ाये जा रहे है। जिले के चार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर ऑक्सीजन पाईप एवं कंसट्रेटर सहित 100 विस्तरों की व्यवस्था की गई है। मेडीकल कॉलेज में 50 विस्तरों की व्यवस्था की जा रही है। 20 विस्तर छोटे बच्चों के लिए रखे गए है। जबकि 10 विस्तरों की व्यवस्था ब्लैक फगंस के मरीजों के उपचार हेतु व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...