दैनिक भास्कर हिंदी: मप्र के बासमती को जीआई टैग सूची में लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपील : कृषि मंत्री

June 19th, 2020

हाईलाइट

  • मप्र के बासमती को जीआई टैग सूची में लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपील : कृषि मंत्री

भोपाल, 19 जून (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के बासमती चावल को जीआई टैग की सूची में शामिल किए जाने की मांग को लेकर शिवराज सिंह चौहान सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। यह जानकारी कृषि मंत्री कमल पटेल ने दी है।

कृषि मंत्री पटेल ने शुक्रवार को संवाददाताओं से चर्चा करते हुए बताया कि मद्रास उच्च न्यायालय ने 27 फरवरी को राज्य में उत्पादित बासमती चावल को जीआई टैग सूची से बाहर कर दिए जाने के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया था। इस फैसले के खिलाफ राज्य सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में अपील की है।

कमल पटेल ने बताया है कि कृषि विभाग ने मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में अपील की है। इसके लिए अधिवक्ता जे साई कौशल को स्पेशल कौंसिल नियुक्त किया गया है। सर्वोच्च न्यायालय में कौशल राज्य का पक्ष रखेंगे।

कृषि मंत्री पटेल का आरोप है, पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कारण बासमती के चावल का बड़ा उत्पादक राज्य जीआई टैग के मामले में पिछड़ गया है। हमारा राज्य पारंपरिक तरीके से बासमती के चावल का उत्पादन करता है, यहां अच्छी किस्म का बासमती चावल उत्पादित होता है। शिवराज िंसह चौहान के नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य के बासमती को जीआई टैग में शामिल करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में अपील की है। राज्य के बासमती के जीआई टैग की सूची में आने से किसानों को अच्छे दाम मिलेंगे।