क्लोजिंग बेल: सेंसेक्स में 135 अंक गिरावट, निफ्टी 15,300 के नीचे बंद हुआ

June 17th, 2022

हाईलाइट

  • सेंसेक्स 135.37 अंक टूटकर के साथ 51,360.42 पर बंद हुआ
  • निफ्टी 67.10 अंक की गिरावट के साथ 15,293.50 पर बंद हुआ

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (17 जून, शुक्रवार) गिरावट के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 135.37 अंक यानी कि 0.26% टूटकर के साथ 51,360.42 के स्तर पर बंद हुआ। 

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 67.10 अंक यानी कि 0.44% की गिरावट के साथ 15,293.50 के स्तर पर बंद हुआ।

जबकि बैंक निफ्टी में तेजी रही तथा ये 125.95 अंकों की बढ़त के साथ 32743.05 पर बंद हुआ। निफ्टी के 50 शेयरों में 35 गिरे जो व्यापक बिकवाली दर्शाते हैं। क्षेत्र विशेष में आईटी, हेल्थकेयर, आयल एंड गैस में एक प्रतिशत की हानि रही वहीं मेटल तथा बैंकिंग में खरीदारी दिखी। निफ्टी के शेयरों में बजाज फाइनेंससर्व, बजाज फाइनेंस, कोल इंडिया, जेएसडब्लू स्टील तथा रिलायंस में सर्वाधिक बढ़त रही जबकि टाइटन, विप्रो, एचडीएफसी लाइफ एवं यूपीएल सबसे अधिक गिरे। इंडिया विक्स 20 के ऊपर 0.48 प्रतिशत की हानि के साथ 22.76 पर बंद हुआ।

तकनीकी रूप से साप्ताहिक चार्ट पर निफ्टी नीची हाई तथा नीचे लो का प्रारूप बना ट्रेड कर रहा है जो मंदी की चाल का संकेत है। निफ्टी ने होरिजेंटल लाइन पर एक ब्रेक डाउन दिया है तथा 200 दिनों के डीएमए के नीचे है ,ये भी बाजार में दुर्बल रुख की पुष्टि करता है। निफ्टी ने 100*200 आवरली मूविंग एवरेज के नीचे समाप्ति दी है, यह बाजार में और भी गिरावट आ सकने का संकेत है।मोमेन्टम संकेतक स्टॉकिस्टिक तथा एमएसीडी दैनिक चार्ट पर नकारात्मक क्रॉसओवर के साथ ट्रेडिंग कर रहे जो निफ्टी में मंदी दर्शा रहे। 

निफ्टी 15000 पर सपोर्ट ले सकता है,तेजी में 15500 एक तात्कालिक अवरोध है।बैंक निफ्टी का सपोर्ट 32300 तथा अवरोध 33800 है कुलमिला कर निफ्टी चार्ट अधिक दुर्बल दिख रहा है।15000 का स्तर तोड़ने पर एक तेज गिरावट आ सकती है। यदि मार्केट वर्तमान स्तरों पर टिक जाता है तथा फिर तेजी की ओर बढ़ता है तो यह माना जा सकता है कि मार्केट का बॉटम बन गया है।

पलक कोठारी
रीसर्च एसोसिएट
चॉइस ब्रोकिंग

Source: Choice India