क्लोजिंग बेल: सेंसेक्स 248 अंक चढ़ा, निफ्टी 16,300 के ऊपर बंद हुआ

July 19th, 2022

हाईलाइट

  • सेंसेक्स 246.47 अंक ऊपर 54,767.62 के स्तर पर बंद हुआ
  • निफ्टी 62.05 अंक की बढ़त के साथ 16,340.55 पर बंद हुआ

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के दूसरे दिन (19 जुलाई 2022, मंगलवार) बढ़त के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 246.47 अंक यानी कि 0.45% ऊपर 54,767.62 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 62.05 अंक यानी कि 0.38% की बढ़त के साथ 16,340.55 के स्तर पर बंद हुआ।

जबकि बैंक निफ्टी ने 362.65 अंकों की तेजी के साथ 35720.35 पर समाप्ति दी। इंडिया विक्स 0.23 प्रतिशत बढ़त पर 17.20 पर बंद हुआ। क्षेत्र विशेष में निफ्टी फार्मा तथा निफ्टी मीडिया को छोड़कर निफ्टी रियलिटी, ऑटो, बैंक सूचकांक 1 से 2 प्रतिशत चढ़े।निफ्टी के 50 शेयरों में से 29 शेयर हरे रंग में रहे जो व्यापक खरीदारी दर्शाते हैं। निफ्टी के शेयरों में एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, एमएंडएम, टाटा स्टील तथा अपोलो हॉस्पिटल में सर्वाधिक लाभ रहा जबकि नेस्ले, एचडीएफसी लाइफ, हीरो मोटर तथा टाटा कन्ज्यूम में सबसे अधिक गिरावट रही।

तकनीकी आधार पर पिछले तीन दिनों से निफ्टी हायर हाई तथा हायर लो के प्रारूप में ट्रेड कर रहा है जो निफ्टी में शक्ति का परिचायक है। निफ्टी ने एक बुलिश मरुबाजू कैंडल बनाया है जो तेजी का संकेत है। निफ्टी के ओपन इंटरेस्ट डेटा में कॉल में सर्वाधिक ओपन इंटरेस्ट 16500 फिर 16300 पर है जबकि पुट में 16200 फिर 16000 पर है। निफ्टी राइजिंग वेज प्रारूप के ऊपरी बैंड पर तथा 100 डीएमए 16440 पर अवरोध का सामना कर रहा है, इसको पार करने पर एक तीव्र तेजी दिख सकती है। 

मोमेन्टम संकेतक स्टॉकिस्टिक दैनिक चार्ट पर सकारात्मक क्रॉसओवर के साथ ट्रेड कर रहा है जो निफ्टी में शक्ति का संकेत है। निफ्टी 16150-16100 पर सपोर्ट ले सकता है, तेजी में 34900 सपोर्ट है तथा 36000 पर अवरोध है। कुलमिला कर बाजार में  स्टॉक स्पेसिफिक चाल देखी जा रही है। निवेशक दीर्घ अवधि के लिए वैल्यू स्टॉक जमा कर सकते हैं। पहले भारतीय बाजार में उछाल पर बिकवाली की जा रही थी, अब गिरावट का प्रयोग खरीदारी के लिए किया जा रहा है। अभी मंदड़िये फंसे हुए लग रहे है यदि कोई बहुत बड़ा नकारात्मक समाचार न आये।

पलक कोठारी
रीसर्च एसोसिएट
चॉइस ब्रोकिंग

Source: Choice India