क्लोजिंग बेल: सेंसेक्स 284 अंक चढ़ा, निफ्टी 16,600 के ऊपर बंद हुआ

July 21st, 2022

हाईलाइट

  • सेंसेक्स 284.42 अंक की बढ़त के साथ 55,681.95 पर बंद हुआ
  • निफ्टी 84.40 अंक की बढ़त के साथ 16,605.25 पर बंद हुआ

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के चौथे दिन (21 जुलाई 2022, गुरुवार) बढ़त के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 284.42 अंक यानी कि +0.51% की बढ़त के साथ 55,681.95 के स्तर पर बंद हुआ।   

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 84.40 अंक यानी कि +0.51% की बढ़त के साथ 16,605.25 के स्तर पर बंद हुआ। 

जबकि बैंक निफ्टी 228.90 अंक चढ़कर 36201 पर रहा। इंडिया विक्स 0.24 प्रतिशत बढ़ 16.86 पर बंद हुआ। फार्मा के अतिरिक्त्त अन्य सभी क्षेत्र विशेष सूचकांक हरे रंग में बंद हुए। पीएसयू बैंक तथा कैपिटल गुड्स सूचकांक, प्रत्येक में 1 प्रतिशत की वृद्धि रही। निफ्टी के 50 शेयरों में 34 लाभ में रहे जो व्यापक खरीदारी दर्शाता है। निफ्टी के शेयरों में इंडसइंड बैंक, यूपीएल, टाटा कन्ज्यूम तथा बजाज फाइनेंस में सबसे अधिक तेजी रही जबकि कोटक बैंक, एसबीआई लाइफ, डॉ रेड्डी में सर्वाधिक गिरावट रही।

तकनीकी आधार पर निफ्टी ने 100 दिनों के डीएमए के सपोर्ट के साथ एक बुलिश कैंडल बनाया है जो तेजी का संकेत है। निफ्टी फॉलिंग ट्रेंडलाइन के ऊपर ट्रेड कर रहा तथा 16500 पर उसने एक शक्तिशाली आधार तैयार किया है जो तेजी का संकेत है। निफ्टी के ओपन इंटरेस्ट डेटा में, कॉल में सर्वाधिक ओपन इंटरेस्ट 16800, फिर 17000 पर है जबकि पुट में सर्वाधिक ओपन इंटरेस्ट 16500 पर है। मोमेन्टम संकेतक स्टॉकिस्टिक एवं एमएसीडी दैनिक समयाविधि चार्ट पर सकारात्मक क्रॉसओवर के साथ ट्रेड कर रहे हैं जो बाजार के शक्तिशाली होने का संकेत है। 

अगस्त माह का पुट कॉल रेश्यो 1.33 है जो तेजड़ियों के सक्रिय होने का संकेत दे रहा है। निफ्टी 16500 पर सपोर्ट ले सकता है,16800 एक तात्कालिक अवरोध है। बैंक निफ्टी का सपोर्ट 35500 तथा अवरोध 36900 है। कुलमिला कर निफ्टी ने 16500 पर एक शक्तिशाली सपोर्ट बनाया है। 16800 पार करने पर अल्प अवधि में तीव्र तेजी की संभावना है। मंदड़िये बाजार में फंसे हुए हैं, उनकी शार्ट कवरिंग से और भी तेजी देखी जा सकती है यदि विदेशी बाजार तेज बने रहे तो।

पलक कोठारी
रीसर्च एसोसिएट
चॉइस ब्रोकिंग

Source: Choice India