दैनिक भास्कर हिंदी: Fuel Price: लॉकडाउन के बीच इतना सस्ता हुआ कच्चा तेल, जानें क्या हुआ पेट्रोल- डीजल पर असर

April 28th, 2020

हाईलाइट

  • कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई
  • पेट्रोल डीजल की कीमतों में नहीं कोई राहत
  • बीते 47 दिनों से नहीं हुआ कीमतों में बदलाव

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लॉकडाउन का दूसरा फेज जारी है, ऐसे में लोग अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हैं। कोरोनावायरस से बचाव के लिए उठाए गए इस कदम के चलते सड़कों पर सिर्फ आवश्यक कार्यों के लिए उपलब्ध होने वाले वाहन ही नजर आ रहे हैं। ऐसे में पेट्रोल- डीजल की खपत पर इसका बड़ा असर पड़ा है। हालात यह कि ईंधन की मांग में आई भारी कमी के कारण तेल की सभी भंडारण सुविधाएं भी अपनी पूर्ण क्षमता पर पहुंच चुकी हैं। वहीं कच्चे तेल के दाम जमीन पर आ गिरे हैं। 

हालांकि बावजूद इसके घरेलू बाजार में पेट्रोल डीजल के दाम में कोई बदलाव बीते 47 दिनों से देखने को नहीं मिला है। भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने आज (मंगलवार, 28 अप्रैल) भी पेट्रोल- डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया है। यानी कि पेट्रोल और डीजल दोनों ही अपने पुराने रेट पर उपलब्ध होंगे। माना जा रहा है कि लॉकडाउन के बाद स्थिति को देखते हुए पेट्रोल डीजल के दाम में बढ़ोतरी की जा सकती है। फिलहाल जानते हैं आज के दाम...

क्रिसिल ने भारत की वृद्धि दर को घटाकर 1.8 फीसद किया

पेट्रोल- डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली सहित आर्थिक राजधानी मुंबई और महानगर कोलकाता व चैन्नई में पेट्रोल डीजल के दाम स्थिर बने हुए हैं। इनकी कीमत इस प्रकार हैं:- 

महानगर

पेट्रोल      

डीजल

दिल्ली 

69.59 रुपए प्रति लीटर

62.29 रुपए प्रति लीटर

मुंबई

76.31 रुपए प्रति लीटर

66.21 रुपए प्रति लीटर

कोलकाता 

73.30 रुपए प्रति लीटर

65.62 रुपए प्रति लीटर

चैन्नई

72.28 रुपए प्रति लीटर

65.71 रुपए प्रति लीटर 

रोज सुबह 6 बजे तय होती है कीमत
विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर पर ऑयल मार्केटिंग कंपनियां पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।

Lockdown:आरबीआई ने म्यूचुअल फंड को दी बड़ी राहत

पेट्रोल व डीजल के दाम में कीमत में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। इसके अलावा डीलरशिप का असर भी पेट्रोल डीजल की कीमत पर होता है। दरअसल, डीलर पेट्रोल पंप चलाने वाले लोग हैं। वे खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचते हैं। पेट्रोल रेट और डीजल रेट में यह कीमत भी जुड़ती है।