दैनिक भास्कर हिंदी: 116 नल जल योजनाएं ठप, जिला पंचायत CEO ने दिया अल्टीमेटम

September 9th, 2017

डिजिटल डेस्क,कटनी। जिले में अल्पवर्षा के चलते बारिश के सीजन में ही पेयजल के लिए कोहराम मचने लगा है। पठार क्षेत्रों में जहां जल स्तर नीचे जाने से पानी के लिए लोगों को अभी से आधा किमी का सफर तय करना पड़ रहा है, वहीं जिले में 116 नल जल योजनाएं ठप हैं। 

जिला पंचायत सीईओ फ्रेंक नोबल ए का कहना है कि 2 लाख से कम लागत की बंद नल जल योजनाओं को चालू करने के लिए पंचायतों के खाते में राशि ट्रांसफर कर दी गई है।  इसके साथ ही 120 पंचायतों को नल जल योजनाओं के सुधार कराने के लिए रिमाइंडर दिया गया है। सीईओ ने कहा कि पंचायतों को अल्टीमेटम दिया गया है। यदि पंचायएं बंद नल जल योजनाओं में सुधार कार्य नहीं कराती है तो रिकव्हरी के साथ कार्रवाई की जाएगी। बताया जा रहा है कि बंद नल जल योजनाओं में सुधार कार्य के लिए 6 माह पहले पंचायतों के खाते में राशि ट्रांसफर कर दी गई थी। इसके बाद भी पंचायतें पैसा दबाकर बैठ गई है। 

पंचायत ने खड़े किए हाथ
बताया जा रहा है कि रीठी पंचायत ने नल जल योजना संचालित करने में हाथ खड़े कर लिए हैं। इसके साथ ही ढीमरखेड़ा, बड़वारा, विजयराघवगढ़ की एक-एक योजनाएं बंद पड़ी हैं। जबकि 6 नल जल योजनाओं के स्त्रोत असफल हो गए हैं। जिले में नल जल की एक इकाई विद्युत बिल जमा नहीं होने के कारण ठप है। जबकि सबसे अधिक नल जल योजनाएं लाइन क्षतिग्रस्त होने से बंद है। जानकारी के मुताबिक 31 योजनाओं तक पहुंचने वाली बिजली की लाइन क्षतिग्रस्त होने के चलते पंचायतों ने सुधार कार्य नहीं कराया है।

खबरें और भी हैं...