• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • 20 Tigers, 169 leopards, evidence found during the International Tiger computation in forest of Chhindwara

दैनिक भास्कर हिंदी: अंतर्राष्ट्रीय बाघ गणना : छिंडवाड़ा जिले के जंगल में 20 बाघ, 169 तेंदुए

August 1st, 2018

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। तीन लाख 80 हजार हेक्टेयर में फैले जिले के जंगल में बाघों का कुनबा खूब फल-फूल रहा है। अखिल भारतीय बाघ गणना में वनकर्मियों द्वारा जंगल में किए गए सर्वे में 20 बाघों के साक्ष्य मिले हैं। जिसकी जानकारी एकत्र कर वन विभाग द्वारा पेंच नेशनल पार्क को भेजी गई है। यहां से आंकड़े देहरादून भेजे जाएंगे।

छिंदवाड़ा के तीनों वनमंडलों में किए गए सर्वे में बाघों के अलावा 169 तेंदुए के होने की भी पुष्टि हुई है। पर्याप्त शिकार होने से मांसाहारी जीव छिंदवाड़ा के जंगल में अपना कुनबा बढ़ा रहे है। बाघ और तेंदुए की बढ़ती तादाद के चलते वन विभाग ने अपने मैदानी अमले को इनकी सुरक्षा के लिए हमेशा मुस्तैद रहने हिदायत दी है। मांसाहारी जीवों के साथ शाकाहारी वन्यप्राणियों की भी इस वर्ष गणना की गई है।

पश्चिम वनमंडल में सबसे अधिक बाघ
छिंदवाड़ा के तीन वनमंडलों में से पश्चिम वनमंडल में सर्वाधिक 11 बाघों के होने के साक्ष्य जुटाए गए हैं। वहीं दक्षिण वनमंडल में सिर्फ तीन बाघों की मौजूदगी दर्ज की गई। इसके अलावा पूर्व वनमंडल में सर्वे कर रही टीम को छह बाघों के साक्ष्य मिले हैं।

दक्षिण वनमंडल में तेंदुए की तादाद ज्यादा
वनकर्मियों द्वारा तीन दिनों तक किए गए सर्वे में दक्षिण वनमंडल के जंगलों में 68 तेंदुए होने के साक्ष्य मिले हैं। दूसरे नंबर पर पश्चिम वनमंडल है यहां 60 तेंदुए और पूर्व वनमंडल में 41 तेंदुए के साक्ष्य मिले। दक्षिण वनमंडल के सिल्लेवानी और सौंसर, पांढुर्ना के जंगलों में तेंदुए सबसे अधिक हैं।

घने जंगल की वजह से बनाया ठिकाना
छिंदवाड़ा के जंगल काफी घने हैं। इसी के साथ यहां पर्याप्त मात्रा में शिकार है। इस वजह से बाघ और तेंदुओं ने अपना ठिकाना यहां बनाया है। आसानी से मिलते शिकार और छिपने के लिए घने जंगलों की वजह से मांसाहारी जीव यहां आसानी से अपना कुनबा बढ़ा रहे हैं।

तीन वनमंडलों की 22 रेंज में सर्वे
जिले के तीन वनमंडलों की 22 रेंज की बीटों में वनकर्मियों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय बाघ गणना की गई। पूर्व वनमंडल की आठ रेंज, पश्चिम वनमंडल की सात और दक्षिण वनमंडल की सात रेंजों में किए गए सर्वे में बाघ और तेंदुए समेत शाकाहारी जानवरों के साक्ष्य तलाशे गए।