दैनिक भास्कर हिंदी: 400 करोड़ रू. का आसामी निकला पीएचई का रिटायर्ड इंजीनियर - ईओडब्ल्यू का छापा

June 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। यहां पीएचई  का एक रिटायर्ड इंजीनियर 400 करोड़ रू. का आसामी निकला । यह खुलासा तब हुआ जब छापामारी में उसके निवास से भारी मात्राा में सोना चांदी सहित नगदी व बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज बरामद हुए । जानकारी के अनुसार इस धन कुबेर के घर से पांच किलों दस्तावेज बरामद कर उसकी जब्ती बनाई गई है । 

अचल संपत्ति भी 
इस संबंध में बताया गया है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले की शिकायत पर ईओडब्ल्यू की टीम ने पीएचई के रिटायर्ड इंजीनियर सुरेश उपाध्याय के बिलहरी अनंततारा स्थित निवास पर छापा मारा ।कार्रवाई के दौरान जांच टीम को करीब 400 करोड़ की चल अचल संपत्ति होने का पता चला है । छापे के दौरान 2 किलो सोना 5 किलो चांदी ढाई लाख रुपए नगद व चेतन्य  सिटी में करीब डेढ़ सौ भूखंड व भेड़ाघाट रोड पर भी जमीन और कई कंपनियों में निवेश संबंधी दस्तावेज मिले हैं । इसके अलावा 4 पहिया वाहन व कई अन्य बेनामी संपत्तियों का पता चला है । 

नौ साल पूर्व हुई थी शिकायत
इस संबंध में  ईओडब्ल्यू  के डीएसपी राजवर्धन माहेश्वरी ने बताया है कि पीएचयूएएचटीयू के पद से रिटायर हुए सुरेश उपाध्याय के खिलाफ वर्ष 2010 से 2015 में पद का दुरुपयोग कर आय से अधिक संपत्ति अर्जित किए जाने की शिकायत मिली थी। इन शिकायतों के आधार पर मंगलवार को लोगों की टीम ने सुबह एक साथ अनंतारा के बंगला नंबर 42 में रहने वाले रिटायर्ड इंजीनियर के निवास पर कार्यवाही शुरू की । जांच के दौरान आय से अधिक संपत्ति का खुलासा होने व सुरेश उपाध्याय के द्वारा अपराधिक षड्यंत्र रच कर अपनी पत्नी पूर्व पार्षद भाजपा नेत्री अनुराधा उपाध्याय व पुत्र सचिन उपाध्याय के साथ मिलकर धारा 120 बी 13 -1 भृष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत अपराध कारित कया जाना पाए जाने पर मामला दर्ज कर जांच में लिया गया है ।

कई कंपनियों में निवेश

सूत्रों के अनुसार इंजीनियर के निवास से संपत्ति संबंधी जो दस्तावेज प्राप्त हुए हैं उसमें कई ऐसी कंपनियों में निवेश का पता चला है जो कई करोड़ में है । प्रारंभिक जांच में चार कंपनियों वीनस इंडिया ,डॉल्फिन इंडिया ,आदित्य इंफा्र एवं गंगा फूड्स में भारी निवेश किए ताने के कागजात बरामद किए गए हैं । जांच टीम द्वारा इन दस्तावेजों का सत्यापन कर संपत्ति का आकलन किया जाएगा।

27 एकड़ कृषि भूमि भी है 

सूत्रों के अनुसार जांच के दौरान बरामद किए गए दस्तावेजों की जांच में पता चला है कि सुरेश उपाध्याय उनकी पत्नी व पुत्र के नाम पर 27 एकड़ कृषि भूमि है । इस भूमि का मूल्य रू. 3 करोड़ 42 लाख रू. बताया गया है लेकिन श्री उपाध्याय द्वारा नौकरी पर रहते हुए विभाग से किसी भी संपत्ति की खरीदी की अनुमति नहीं ली गई थी।