दैनिक भास्कर हिंदी: मेडिकल के एसोसिएट प्रोफेसर ने सर्जिकल ब्लेड से गला काटकर कर ली आत्महत्या

January 8th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर । संजीवनी नगर थाना क्षेत्र स्थित धनवंतरी नगर में रहने वाले मेडिकल के सर्जरी विभाग में पदस्थ एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. विनोद विश्वकर्मा ने दोपहर में अपने मकान के बाथरूम का दरवाजा बंद किया और फिर सर्जिकल ब्लेड से गला रेतकर आत्महत्या कर ली। दोपहर में डॉ. पत्नी घर लौटी उसके बाद बाथरूम का दरवाजा तोड़कर शव निकाला गया। उधर सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची और मर्ग कायम कर प्रकरण की जाँच शुरू की। प्रारंभिक जाँच में यह पता चला है कि चिकित्सक पेट संबंधी बीमारी से परेशान था और उसी के चलते आत्मघाती कदम उठाया है। 
सूत्रों के अनुसार धनवंतरी नगर निवासी डॉ. विश्वकर्मा उम्र 44 वर्ष अपनी पत्नी ममता विश्वकर्मा जो कि चिकित्सक हैं और विक्टोरिया में पदस्थ हैं वहाँ से उन्हें जेल में अटैच किया गया है व दो बच्चों उम्र 10 व 13 वर्ष के साथ रहते थे। रोजाना की तरह पत्नी सुबह ड्यूटी पर चली गयी थी। दोपहर में पत्नी ड्यूटी से लौटी तो देखा कि बाथरूम का दरवाजा अंदर से बंद था। उन्होंने दरवाजा खटखटाया लेकिन जब दरवाजा नहीं खुला तो पुलिस को सूचना दी गयी। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर दरवाजा तोड़ा तो अंदर बाथरूम में डॉ. विश्वकर्मा खून से लथपथ हालत में पड़े थे। पास ही खून से सनी सर्जिकल ब्लेड पड़ी हुई थी। घटना की जानकारी लगने पर मेडिकल के डॉक्टर्स व आसपास के लोग भी मौके पर पहुँच गये। उधर पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पीएम के लिए मेडिकल भेजकर प्रकरण की जाँच शुरू की। वहीं घटना की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुँचे और घटनास्थल का निरीक्षण करते हुए जाँच के दिशा निर्देश दिए। 
पेट की बीमारी से थे परेशान 
पुलिस के अनुसार प्रारंभिक जाँच के दौरान पत्नी से पूछताछ की जाने पर पता चला कि मृतक शराब पीने के आदि थे। वे पेट की बीमारी से परेशान थे और इसी के चलते यह कदम उठाया है। वहीं यह बात भी सामने आई है कि उन्होंने शहर में तीन मकान खरीदे थे और उनकी ईएमआई समय पर जमा न कर पाने के कारण तनाव में रहते थे। पुलिस बारीकी से जाँच कर सही कारणों का पता लगाने में जुटी है। 
बच्चों के बाल काटे फिर गला 
पूछताछ में बच्चों द्वारा बताया गया कि दोपहर 12 बजे के करीब पिता ने अपने दोनों बच्चों के बाल काटे और फिर बाथरूम के अंदर गये थे। उसके बाद बाथरूम का दरवाजा नहीं खुला वहीं बच्चे भी इस हादसे से अनभिज्ञ थे और करीब 1 बजे पत्नी अस्पताल से घर लौटी उसके बाद इस घटना का खुलासा हुआ।
इनका कहना है
मेडिकल कॉलेज में सर्जरी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर द्वारा गला रेतकर आत्महत्या की गयी है। प्रारंभिक जाँच में पेट संबंधी बीमारी के चलते यह कदम उठाए जाने का पता चला है। घटनास्थल पर मिले साक्ष्यों की जाँच की जा रही है। 
सत्यनारायण कुशवाहा, चौकी प्रभारी 
 

खबरें और भी हैं...