comScore

बरही हत्या कांड का आरोपी व रेलकर्मी पॉजिटिव - जिले में 73 हुई संक्रमितों की संख्या

बरही हत्या कांड का आरोपी व रेलकर्मी पॉजिटिव - जिले में 73 हुई संक्रमितों की संख्या

डिजिटल डेस्क कटनी । आईसीएमआर लैब से आई रिपोर्ट में बरही में फर्नीचर व्यवसायी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार यूपी निवासी 28 वर्षीय आरोपी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। वहीं डीजल लोकोशेड एनकेजे में पदस्थ 23 वर्षीय टेक्नीशियन  भी कोरोना संक्रमित निकला। इसी के साथ जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 73 हो गई। उल्लेखनीय है कि बरही के फर्नीचर व्यवसायी रमेश मंगलानी की हत्या के आरोपियों को पकडऩे उत्तर प्रदेश गई पुलिस टीम के तीन सदस्य कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।
जेल में नहीं दिया दाखिला
पुलिस टीम उत्तरप्रदेश के संबल से दो आरोपियों रहीस मियां और आबिद अली को सोमवार को लेकर आई थी। इन आरोपियों को न्यायालय के आदेश पर जेल लेकर पहुंचे लेकिन जेल में दाखिला नहीं मिला। जेल अधीक्षक लीना कोष्ठा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते आरोपियों को पुलिस वाहन में ही जिला अस्पताल के लिए वापस कर दिया गया था।
अब सोर्स बना पहली
जिले में भी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति बन गई है। स्वास्थ्य विभाग के लिए मरीजों में कोरोना का सोर्स का पता लगाना मुश्किल हो रहा है। जिले में अब तक आए पॉजिटिव ज्यादातर केस में स्वास्थ्य विभाग को उनके सोर्स की जानकारी नहीं मिली। बड़वारा ब्लॉक के ग्राम सिजहनी के पॉजिटिव आए16 साल के जिस किशोर को बाहर से आना बताया जा रहा था। वह कुठला में पन्नानाका स्थित बाइक रिपेयर की शॉप में काम करता था। सिजहनी के सचिव विष्णु यादव के अनुसार किशोर कटनी से आना-जाना करता था। सर्दी-खांसी होने पर जांच कराई तो बुधवार को उसमें कोरोना की पुष्टि हुई।
दो दिन में 168 सेम्पल लिए
जिला अस्पताल की आरआर टीम के प्रभारी डॉ.समीर सिंघई के अनुसार दो दिन में जिले भर से 168 लोगों के सेम्पल लिए गए हैं। 48 सेम्पल बुधवार को कलेक्ट किए जो जांच के लिए आईसीएमआर लैब जबलपुर भेजे जा चुके हैं। इनके अलावा 13 लोगों के एक साथ पॉजिटिव आने के बाद वर्धमान हॉस्पिटल, झूलेलाल मार्केट के 18 व्यापारियों सहित गांधी गंज निवासी कोरोना संक्रमित परिवार के युवक, उसकी पत्नी एवं पुत्र सहित 129 सेम्पल लिए गए।
स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही
कोरोना संक्रमितों की कांट्रेक्ट और ट्रेवल हिस्ट्री जुटाने में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही हर दिन सामने आ रही है। पूर्व में संक्रमित हुए लोको पायलट एवं उनकी पत्नी के बारे में तत्कालीन सीएमएचओ ने जानकारी दी थी कि वह वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने रीवा गए थे। जबकि लोको पायलट की पत्नी के नाना बीमार थे और वह उनका हाल-चाल जानने गए थे। हालांकि लोको पॉयलट और उनकी पत्नी स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं लेकिन इस दौरान दोनों को मानसिक पीड़ा से गुजरना पड़ा।
 

कमेंट करें
GmcgZ