सरगना मौके से फरार, पुलिस पर संरक्षण देने का आरोप: सटोरिए नरेश के ठिकाने पर क्राइम ब्रांच की रेड, 28 गिरफ्तार

June 11th, 2022

डिजिटल डेस्क जबलपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित निवाडग़ंज गल्ला मंडी में वर्षों से सट्टे, जिंदाबली और जुआफड़ का अड्डा संचालित करने वाले सटोरिए नरेश ठाकुर के ठिकाने पर शुक्रवार की देर शाम क्राइम ब्रांच की टीम ने रेड मार दी। पुलिस ने मौके पर सट्टा लिखने और बुक करने वाले 28 लोगों को रंगे- हाथों पकड़ा। वहीं सरगना नरेश भाग निकला। पकड़े गए आरोपियों से 30 हजार रुपए, सट्टा-पट्टी जब्त की गई है।
कोतवाली टीआई अनिल गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार की शाम क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली थी कि नरेश ठाकुर अपने साथी मगन कोरी, संजय सोनी व अन्य के साथ निवाडग़ंज गल्ला मंडी में अवैध सट्टे का कारोबार कर रहा है। सूचना पर टीम ने घेराबंदी करके दबिश दी, अड्डे के बाहर सट्टा लिखाने वालों की भीड़ लगी हुई थी और अंदर सिंघई कॉलोनी निवासी जय कुमार उर्फ मुंगेरी सेन के साथ कुछ लोग अलग-अलग टेबलों पर बैठकर सट्टा बुक कर रहे थे। पकड़े गए आरोपियों में मगन कोरी, संजू सोनी, शुभम साहू, प्रहलाद पटेल, यूसुफ खान, रहमान खान, मोहम्मद उर्फ मुन्ना मसाला, शेरू उर्फ सोहराव, सुखदेव अग्रवाल, बसंत ठाकुर, शब्बीर खान, राम, सुरेश गौतम, नरेश झारिया, सुजीत कुमार शर्मा, राकेश उर्फ बेड़ी लाल बर्मन, राजू खन्ना, रतन कुशवाहा, राहुल शर्मा, राकेश पटेल, अनिल यादव, संजय नागपाल, रोहणी प्रसाद कोल, शिवभान जायसवाल, मुन्ना पटेल, मोहन गोंटिया, कोमल सिंह ठाकुर एवं अमरनाथ पाल शामिल हैं।
पुलिस के संरक्षण में पनपा नरेश
नरेश ठाकुर निवाडग़ंज गल्ला मंडी में वर्षों से जुए-सट्टे के अड्डे का संचालन कर रहा है। उसे पुलिस का खुला संरक्षण रहता है। पूर्व में कई थाना प्रभारियों पर नरेश से मिलीभगत होने पर निलंबन की भी कार्रवाई हो चुकी है, लेकिन कुछ दिन शांत रहने के बाद वह अपना अवैध कारोबार िफर से शुरू कर लेता है।