जरा सी हवा में भी रुलाने लगा बिजली सिस्टम, घंटों सप्लाई हो रही प्रभावित

Electricity system started to cry even in the slightest of air, supply being affected for hours
जरा सी हवा में भी रुलाने लगा बिजली सिस्टम, घंटों सप्लाई हो रही प्रभावित
जरा सी हवा में भी रुलाने लगा बिजली सिस्टम, घंटों सप्लाई हो रही प्रभावित

डिजिटल डेस्क जबलपुर । हवा और बारिश के दौरान बिजली सिस्टम लडख़ड़ाने का दौर थम नहीं रहा है। खासकर उपनगरीय क्षेत्रों में तो बिजली सप्लाई को लेकर हालात काफी बिगड़े हुए हैं। इन क्षेत्रों में पिछले एक सप्ताह से रोज तीन-चार घंटे के लिए बिजली सप्लाई बंद हो रही है। उपभोक्ता लगातार बिजली अधिकारियों को शिकायत कर रहे हैं। अधिकारी भी उपकरणों में खराबी आने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। गढ़ा और रांझी क्षेत्र में तो यह रोज की समस्या बन गई है।बताया जाता है कि रांझी में पिछले तीन दिनों से दोपहर के वक्त लगातार सप्लाई बंद हो रही है। दोपहर 12-1 बजे सप्लाई बंद होने के बाद शाम 5 बजे तक आपूर्ति प्रभावित रहती है। अधिकारियों से संपर्क करने पर एक ही जवाब मिल रहा है कि मेंटेनेंस नहीं होने से उपकरण खराब हो रहे हैं जिसके कारण बार-बार सप्लाई बंद हो रही है। आश्चर्य की बात तो यह है कि जहाँ अधिकारी यह कह रहे हैं कि मेंटेनेंस न होने के कारण सिस्टम बिगड़ रहा है, लेकिन सप्लाई बंद होने का क्रम तो पिछले तीन-चार दिनों से लगातार हो रहा है इससे पहले हालात इतने बदतर नहीं थे।
अधिकारियों को फील्ड का पता नहीं 8रांझी क्षेत्र में सबसे बड़ी समस्या यह भी आ रही है कि यहाँ एई से लेकर जेई तक पूरा स्टाफ नया है जिसे फिलहाल पूरे क्षेत्र के विषय में जानकारी नहीं है, जिसके चलते फॉल्ट आने पर अधिकारियों को यह समझ में नहीं आ पाता है कि किस क्षेत्र में फॉल्ट आया है।
गढ़ा क्षेत्र में भी आ रहीं दिक्कतें 8 बताया जाता है कि पिछले कुछ दिनों से गढ़ा के कुछ क्षेत्रों में भी बिजली को लेकर उपभोक्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। यहाँ के लोगों का कहना है कि बिजली सप्लाई बंद होने के बाद अधिकारियों को सूचित करने पर सेंट्रल कम्पलेंट सेंटर के 1912 में शिकायत करने की सलाह दी जाती है। इस नंबर में शिकायत दर्ज कराने के बाद घंटों सुधार नहीं होता है। पिछले दो-तीन दिनों से तो लगातार सप्लाई बंद हो रही है और जनता को शिकायत करने के बाद भी समय पर राहत नहीं मिल रही है।

Created On :   31 Aug 2020 8:54 AM GMT

Tags

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story