दैनिक भास्कर हिंदी: अवैध शराब पकड़ने गए आबकारी दल पर हमला, हमलावरों में एक ASI भी शामिल

June 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, कटनी। गुरुवार की सुबह अवैध शराब पकड़ने गए आबकारी दल पर माफियाओं ने हमला कर दिया। हमलावरों में उमरिया में पदस्थ एक ASI भी शामिल था। घटना की सूचना मिलने पर आबकारी अधिकारी के साथ पुलिसकर्मी भी पहुंच गए। विभागीय अफसरों ने ASI के भतीजे को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आबकारी एक्ट के तहत उसे जेल भेज दिया।

घटना पर एक नजर
जानकारी के मुताबिक झर्राटिकुरिया के पास अवैध शराब बिक्री की सूचना पर आबकारी विभाग की टीम ने सुबह छह बजे दबिश दी। विभाग को शिवकुमार साकेत के पास से छह पेटी अवैध शराब भी मिली। ADO ममता अहिरवार, जीपी केवट, एसआई मुकेश शुक्ल, महेंद्र शुक्ल, रजनीश त्रिपाठी, अभिषेक सिंह बघेल, मोना दुबे लिखा पढ़ी कर रहे थे, इसी दौरान वहां पर उमरिया में पदस्थ ASI रसिया साकेत पहुंच गया। रसिया ने आबकारी टीम के उपर आगबबूला होते हुए पूछा कि तुम लोग यहां कैसेे आ गए। इस पर विभागीय लोगों  ने एतराज जताया तो ASI रसिया और उसके परिजनों ने टीम पर हमला बोल दिया। गौरतलब है कि शिवकुमार साकेत पुत्र पुरूषोत्तम साकेत ASI रसिया साकेत का भतीजा है।

आबकारी अधिकारी पुलिस दल के साथ पहुंचे
हमले की सूचना पर आबकारी अधिकारी राम प्रकाश किरार पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंच गए। वाद-विवाद और झड़प को देखते हुए घटनास्थल पर सैकड़ों लोग जमा हो गए। पुलिस ने बीच-बचाव करते हुए मामले को शांत कराया। आरोपी शिवकुमार को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से छह पेटी शराब बरामद की। विभाग आबकारी एक्ट 34 के तहत उसका चालान न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने उसे जेल भेज दिया।

SP उमरिया को लिखा पत्र
आबकारी अधिकारी ने SP कटनी और SP उमरिया को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है। गौरतलब हो कि झर्राटिकुरिया में काफी समय से अवैध शराब की बिक्री हो रही थी। पुलिस और आबकारी की टीम भारी विरोध के कारण अवैध शराब की बिक्री पर लगाम नहीं लगा पाई थी।

कलेक्टर से ठेकेदार की शिकायत
फारेस्टर वार्ड के नागरिकों ने गुरुवार को कलेक्टर केबीएस चौधरी से मुलाकात कर शराब ठेकेदार सुरेश शिवहरे पर दबंगई का आरोप लगाया है। पार्षद कमलेश चौधरी ने कहा कि ठेकेदार के गुर्गे वार्डवासियों को लगातार परेशान करते रहते हैं। विरोध करने वालों को झूठे मामले में फंसाने की धमकी देता है। ठेकेदार के गुर्गो की दबंगई से छात्राओं का मोहल्ले से निकलना दूभर हो गया है। वार्डवासियों ने कलेक्टर से ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

इनका कहना है
उमरिया में पदस्थ ASI के खिलाफ लिखापढ़ी की गई है। SP उमरिया को पत्र भेजा गया है। उसके भतीजे शिवकुमार का चालान पेश किया गया, जहां से अदालत ने उसे जेल भेज दिया।
राम प्रकाश किरार, जिला आबकारी अधिकारी