comScore

मनरेगा में फर्जीवाड़ा, बरसात में करा दिया तालाब निर्माण- सरपंच, सचिवों ने  कर दिया लाखों का खेल

मनरेगा में फर्जीवाड़ा, बरसात में करा दिया तालाब निर्माण- सरपंच, सचिवों ने  कर दिया लाखों का खेल

डिजिटल डेस्क  कटनी । महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में मजदूरी का भुगतान भले ही मजदूरों के बैंक खातों में सीधे किया जाता है पर सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक इतने चतुर हो गए हैं कि उसमें भी घालमेल कर लेते हैं। बरसात के समय मनरेगा में अर्थवर्क के कार्यों पर प्रतिबंध के बाद भी अनेक ग्राम पंचायतों में तालाबों के निर्माण, गहरीकरण, ग्रेवल रोड निर्माण के लिए मस्टररोल जारी हो गए और उनमें काम करने वाले मजदूरों के नाम भुगतान भी हो गया। ऐसा ही मामला जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा में सामने आया है। सामाजिक कार्यकर्ता राकेश खरे ने मुख्यमंत्री, ग्रामीण विकास मंत्री,
संभागायुक्त, आयुक्त मनरेगा से की गई शिकायत में आरोपित किया है कि  जब झमाझम बारिश हो रही थी तब अगस्त माह में नौ ग्राम पंचायतों में तालाब एवं सडक़ निर्माण के नाम पर कागजों में कार्य करके फर्जी भुगतान किया गया।
नवीन तालाबों के नाम पर निकाले मस्टर
शिकायत में आरोप लगाया है कि ग्राम पंचायत आमाझाल के खरखरिया में नवीन तालाब निर्माण के लिए मस्टररोल नंबर 4908 एक अगस्त से 7 अगस्त तक  जारी कर 17280 रुपये का भुगतान किया। इसी पंचायत के ग्राम कुदरा में नवीन तालाब निर्माण के लिए मस्टर रोल नंबर 5795 जारी किया गया। जिसमें दिनांक 7/8/2019 से 13/8/2019 तक 20880 रुपये का भुगतान किया। ग्राम पंचायत गौरा में खेल मैदान के पास नवीन तालाब के लिए 2/8/ 2019 से 7/8/2019 तक मस्टररोल नंबर 5107 जारी कर 31500 रुपये का भुगतान किया। ग्राम पंचायत बरहटा के कुसनेरी में नवीन तालाब के लिए 1/8/210 को मस्टर रोल नंबर 4410 जारी कर  96025 रुपये का भुगतान किया। ग्राम पंचायत भमका के ग्राम रोजन में तालाब विस्तारीकरण के लिए 30/7/2019 को मस्टररोल नंबर 4688 जारी कर 6200 रुपये का भुगतान किया। ग्राम पंचायत सैलारपुर में भी तालाब विस्तारीकरण के लिए 2/8/2019 को मस्टररोल नंबर 5106 जारी कर 28992 रुपये का भुगतान किया। ग्राम पंचायत खम्हरिया खमतरा में सरैया तालाब जीर्णोद्धार के लिए 8/8/2019 को मस्टररोल नंबर 6026 जारी कर 10730 रुपये का भुगतान किया।
सडक़ों का कर दिया निर्माण
बरसात के दिनों मेंं मनरेगा से  मिट्टी, मुरुम की सडक़ों का निर्माण भी बंद रहता है पर ग्राम पंचायतों ने सडक़ों के नाम पर भी मस्टररोल जनरेट कर लिए। शिकायत के अनुसार ग्राम पंचायत इटौली में सुदूर सडक़ मेनरोउ से कंजिया तक निर्माण के लिए 21/8/2019 को मस्टररोल नंबर 5483 जारी कर 9600
रुपये का भुगतान किया गया। इसी कार्य में 21 अगस्त को मस्टररोल नंबर 7530 जारी कर 3600 रुपये का भुगतान किया गया। इटौली में ही मेनरोड से इमलिया सुदूर सडक़ निर्माण के नाम पर 6 अगस्त को मस्टर रोल नंबर 7529 जारी कर 8400 रुपये का भुगतान किया गया। इसी कार्य में मस्टररोल नंबर 9181 जारी कर 30690 रुपये एवं मस्टररोल नंबर 9182 जारी कर 1980 रुपये का भुगतान किया गया।
सीईओ ने बनाई जांच टीम
इस शिकायत पर जिला पंचायत सीईओ ने समिति गठित कर जांच करने के निर्देश दिए। सामाजिक अंकेक्षक धनराज सिंह चौधरी नोडल अधिकारी, पंचायत समन्वयक अधिकारी जी. किस्पोट्टा, विकासखंड नोडल अधिकारी अशोक कुमार ठाकुर को शामिल कर ग्राम पंचायत इटौली, नेगई, खाम्हा, सैलारपुर, आमाझाल, गौरा, भमका, खम्हरिया, खमतरा में हुए तालाब निर्माण, सुदूर सडक़ के कार्यों के लिए जारी मस्टररोल की जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
इनका कहना है
  जांच समिति की रिपोर्ट बुधवार को ही प्राप्त हुई है। रिपोर्ट को कम्पाइल कराया जा रहा है। जांच में प्राप्त तथ्यों के आधार पर कार्यवाही की जाएगी।
- जगदीशचंद्र गोमे, सीईओ जिपं
 

कमेंट करें
FoAQz