दैनिक भास्कर हिंदी: सर्पदंश से महिला चिकित्सक की मौत - परिवार के सभी सदस्य हैं डाक्टर 

October 25th, 2019

डिजिटल डेस्क जबलपुर । रानी दुर्गावती चिकित्सालय जबलपुर में कार्यरत स्त्री रोग विशेषज्ञ की सर्प के डसने से मौत हो गई । आईसीयू ऑब्जरवेशन मैं रहने के बावजूद एक चिकित्सक की मौत हो जाने को बड़ा ही आश्चर्यजनक माना जा रहा है । मृतक डा. रचना शुक्ला प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री प. रविशंकर श्ुाक्ल की प्रपौत्र वधु तथा पूर्व मुख्यमंत्री श्यामाचरण श्ुाक्ल के भाई ईश्वरी चरण शुक्ल के पुत्र प्रसिद्ध चिकित्सक डा. राकेश शुक्ला की पुत्र वधु हैं । आपके पति भी चिकित्सक हैं लगभग पूरा परिवार ही चिकित्सक है ।
 ऐसे हुई घटना 
पूर्व संध्या को डा.रचना शुक्ला अपनी कार से कुछ सामान निकाल रहीं थीं तभी उन्हें हाथ में कीड़े के काटने का एहसास हुआ । उन्होंने तत्काल ही मोबाइल टॉर्च से देखा तो वहां एक सर्प रेंगता हुआ दिखाई दिया । सर्प के काटने का अहसास होते ही परिवारजनों ने उन्हें मेडिकल हास्पिटल के आईसीयू वार्ड में दाखिल कराया । सभी सर्प जहरीले नहीं होते इस धारणा को लेकर डा. रचना सामान्य थीं और वे अपने आप को सामान्य भी मेहसूस कर रहीं थीं ।यही कारण है कि उन्हें एंटीवेनम डोज नहीं दिया गया ।अस्पताल में 14 घंटे रहने के बाद भी सामान्य मेहसूस कर रहीं थीं । सामान्य स्थिति को देखते हुए वे अपनी जबावदारी पर घर भी चली गई । रात में उनकी हालत बिगडऩे लगी जिससे तत्काल ही उन्हें अस्पताल दाखिल किया गया । उन्हें एक के बाद एक तीन बार कार्डियक अरेस्ट हुआ जिसमें दो बार तो डाक्टरों ने कंट्रोल कर लिया किंतु तीसरी बार नहीं बचाया जा सका और उनकी मौत हो गई ।
गंभीरता से न लेना हो गया घातक 
चिकित्सकों के अनुसार मामले को गंभीरता से नहीं लिया जाना ही घातक हो गया । मरीज को डाक्टर नहीं मरीज ही समझना चाहिए था साथ पूरे 24 घंटे निगरानी में रखने के साथ ही एंटीवेनम डोज देना चाहिए था । 
 

खबरें और भी हैं...