दैनिक भास्कर हिंदी: करंट लगाकर तीन चीतलों का शिकार, पांच आरोपी गिरफ्तार

January 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क, कटनी। एनकेजे थाना क्षेत्र के सरसवाही रोपणी के समीप शिकारियों द्वारा करंट लगाकर तीन वयस्क चीतलों (दो मादा और एक नर) को मारने का मामला सामने आया है। मंगलवार देर रात जब आरोपी चीतलों के शव को घर ले गए तब वन विभाग ने दबिश देते हुए इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। 24 घंटे के अंतराल में जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में चार चीतल असमय ही मौत के मुंह में समा गए। इसके पहले ढीमरखेड़ा तहसील के परासी क्षेत्र में भी तेंदुए ने चीतल का शिकार कर लिया था। 

पार्टी मनाने की रही तैयारी
आरोपियों के द्वारा शिकार किए गए चीतलों का गोश्त खाकर पार्टी मनाने की तैयारी थी कि उसी समय सरसवाही गांव में वन विभाग की टीम ने दबिश दे दी। आरोपी घर में ही चीतलों को रखे हुए थे। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में पांचों आरोपी श्यामू कोल पिता भगवानदीन कोल, गोपाल पिता सियालाल कोल, रामसुजान पिता भगवानदास चौधरी, दीपक पिता राजकपूर कोल, नंद किशोर पिता कुशल कोल को गिरफ्तार किया गया है।  

खेत में बिछाई गई थी करंट
जिस जगह पर दो मादा और एक नर चीतल का शिकार सरसवाही के पांचों शिकारियों ने किया, वहां पर वन विभाग की रोपणी भी है। इसके बावजूद वन विभाग के मैदानी अमले को इसकी भनक नहीं लगी। बताया गया कि यहां पर झुंड में चीतल पहुंचे थे। शिकारियों ने तो अपना काम पूरा कर लिया था, लेकिन ग्रामीण की सूचना ने शिकारियों के किए पर पानी फेरते हुए इसके बारे में वन विभाग के उच्चाधिकारियों को सूचना देकर आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया।   

परासी में तेंदुआ ने किया शिकार
ढीमरखेड़ा तहसील के परासी क्षेत्र में भी मंगलवार को तेंदुआ ने चीतल का शिकार कर लिया। खेत में जब चीतल के शव को ग्रामीणों ने देखा तो इसकी सूचना वन विभाग के अफसरों को दी। मौके पर पहुंचते डिप्टी रेंजर दिनेश पटेल ने इसकी पुष्टि की कि उक्त चीतल का शिकार तेंदुआ द्वारा किया गया है। चीतल के गले में निशान के साथ घटना स्थल पर तेंदुए के पद चिन्ह मिलने की भी बात अधिकारियों ने बताई है।  

इनका कहना है
सरसवाही क्षेत्र में तीन चीतलों का शिकार आरोपियों ने करंट लगाकर कर लिया था। मंगलवार देर रात इस मामले में पांच आरोपियों को मारे गए चीतलों के साथ पकड़ा गया। चीतलों का अंतिम संस्कार करते हुए सभी आरोपियों को हिरासत में लिया गया है।  
ओपी सिंह बघेल, उप-वनमण्डल अधिकारी

 

खबरें और भी हैं...