दैनिक भास्कर हिंदी: खतरनाक हादसा टला, कपलिंग टूटने से बीच पुल पर दो हिस्सों में बंटी मालगाड़ी

December 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, कटनी। कटनी-चौपन लाइन में दो दिन के भीतर दूसरी घटना ने रेलवे प्रशासन की लापरवाही को उजागर कर दिया है। एक दिन पहले रेल फ्रैक्चर के कारण शक्तिपुंज एक्सप्रेस बाल-बाल बच गई थी। दूसरे दिन बुधवार को शकरीगढ़ पुल पर कपिलंग टूटने से मालगाड़ी दो हिस्सों में बंट गई थी। गनीमत थी कि बड़ा हादसा टल गया। यदि मालगाड़ी के डिब्बे पलटते तो इस ट्रेक पर घंटों रेल यातायात बाधित हो सकता था। पुल के बीचों बीच हुए इस डिरेल के कारण कुछ देर के लिए तो रेल अधिकारियों के भी हाथ के तोते उड़ गए।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बुधवार दोपहन करीब तीन बजे कटनी की ओर से चौपन की ओर जा रही मालगाड़ी की कपिलंग टूट गई। जिससे मालगाड़ी के कई डिब्बे पीछे छूट गए और शेष डिब्बों के साथ मालगाड़ी लगभग 20 मीटर आगे तक बढ़ गई। बताया जाता है कि काशन होने के कारण पुल पर मालगाड़ी की रफ्तार कम थी वरना बड़ा हादसा हो सकता था। स्पीड अधिक होने से मालगाड़ी के डिब्बे पलटकर पुल के नीचे भी गिर सकते थे। हालांकि लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद कपंलिग जोड़कर मालगाड़ी को आगे बढ़ाया गया।

आठ माह पहले भी हो चुका है
हादसा-कटनी-चौपन- सिंगरौली रेल खंड हादसों के लिए कुख्यात हो चुका है। आठ माह पहले 14 अप्रैल की रात सलहना-पिपरिया कला स्टेशन के बीच शक्तिपुंज ट्रेन की बोगियां पटरी से उतर गई थी। तब भी बड़ा हादसा टला था। उस घटना में बोगियां 50 मीटर तक घिसटते हुए जमीन में धंस गई थीं। इस घटना के बाद 18 दिसम्बर को रेल फ्रैक्चर की घटना सामने आई और एक युवक की सूझबूझ से शक्तिपुंज एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बची।