दैनिक भास्कर हिंदी: जीएसटी -15.89 करोड़ की टैक्स चोरी , 38 फर्मों की ब्लॉक की जाएगी इनपुट टैक्स क्रेडिट 

August 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। जीएसटी के फर्जी पंजीयन के खिलाफ  राज्य कर के सतना-सागर संभाग में विशेष अभियान के दौरान पकड़ में आईं 38 फर्मों पर 15.89 करोड़ की टैक्स चोरी निकली है। स्टेट कर के  ज्वाइंट कमिश्नर केएन मीना (सतना-सागर संभाग) ने बताया कि इनमें से 14 ऐसी बोगस फर्में भी शामिल हैं,जिनमें 75 करोड़  95 लाख 58 हजार के कारोबार पर सरसरी तौर पर 13करोड़ 73 लाख 21 हजार का कर अपवंचन सामने आया है। ये वही फर्में हैं,जिन्होंने जीएसटी नंबर लेकर कारोबार तो किया, लेकिन शासन के पक्ष में टैक्स की अदायगी नहीं की। ज्वाइंट कमिश्नर ने बताया कि इन सभी फर्मों के जीएसटी से संबद्ध रजिस्ट्रेशन निरस्त करते हुए इनकी  इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) ब्लॉक किए जाने की कार्यवाही की जा रही है। 29 जुलाई से 31 जुलाई के बीच चलाए गए इस विशेष अभियान के दौरान 71 फर्मों की जांच की गई थी। 

मामले कैसे- कैसे 

राज्य कर के ज्वाइंट कमिश्नर केएन मीना ने बताया कि जांच अभियान के दौरान  कई ऐसे कारोबारी सामने आए जिन्होंने उपभोक्ताओं से जीएसटी तो वसूली लेकिन लेकिन इस मद में कर की राशि शासन के पक्ष में जमा नहीं की गई। इसी प्रकार कई ऐसी फर्में भी सामने आईं जिन्होंने टिन नंबर तो लिए थे,मगर इन नंबरों का व्यावसायिक इस्तेमाल नहीं किया गया। ऐसे भी कई कारोबारी सामने आए जिन्होंने  दूसरे के पतों पर फर्म रजिस्टर्ड कराई मगर फर्म का संचालन नहीं किया गया। इतना ही नहीं कुछ फर्मों ने जीएसटी नंबर लेकर कारोबार तो किए मगर कर की राशि जमा नहीं कराई गई। 
 

कहां -कितने प्रकरण 

सतना डिवीजन 

 वैढन : 3
 सतना: 14  
 रीवा में : 2
टीकमगढ़ : 7 
 छतरपुर : 6
 पन्ना : 3
 दमोह : 2
 बीना : 1 

गायब हो गई 10 हजार की राशि 

बैंक एटीएम से अब नए तरीके का फ्राड शुरू हो गया है। इस मामले में बैंक भी मनमानी तरीके से जवाब दे रहे हैं। एटीएम से राशि निकालने के लिए प्रक्रिया पूरी होने के बाद हाथ में कुछ नहीं आना और फिर शिकायत का निराकरण नहीं करना आम बात हो गई है। इसी तरह का एक मामला आईडीबीआई और एसबीआई बैंक से जुड़ा सामने आया है। बिरला रोड निवासी उमा अग्रवाल ने बताया कि मेरा आईडीबीआई बैंक में खाता 0422104000035990 है। उन्होंने बताया कि बेटी श्रेया अग्रवाल ने 27 जून को बिहारी चौक के समीप एसबीआई एटीएम से 10 हजार की राशि निकालने के लिए प्रक्रिया पूरी की लेकिन यह राशि नहीं मिली। इसकी सूचना 29 जून को आईडीबीआई बैंक में दी गई। एक माह बाद राशि के खाते में वापस नहीं आने पर खाताधारक ने आईडीबीआई बैंक में संपर्क किया तो अब यह कहा जा रहा कि इस शिकायत को 29 जुलाई को रिजेक्ट कर दिया गया है। अंतत: राशि नहीं मिली। 

खबरें और भी हैं...