comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कैसे पहुँच रहा नर्मदा में गंदे नाले-नालियों का पानी, कलेक्टर ने देखी हकीकत

कैसे पहुँच रहा नर्मदा में गंदे नाले-नालियों का पानी, कलेक्टर ने देखी हकीकत

डिजिटल डेस्क जबलपुर । नर्मदा में गंदे नाले-नालियों का पानी आखिर क्यों मिल रहा है इतने वर्षों में भी सुधार क्यों नहीं हुआ। अब लेकिन इसमें बिल्कुल ढिलाई न की जाए, नर्मदा में सीधे तौर पर गंदे नाले-नालियों का पानी बिल्कुल नहीं मिलना चाहिए। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने मंगलवार की दोपहर नर्मदा तट पहुँचकर निरीक्षण किया। उन्होंने सिद्धघाट, उमाघाट, दरोगाघाट, ग्वारीघाट सहित जहाँ-जहाँ नाले-नालियों का पानी बहकर नर्मदा जल में मिल रहा है उन स्थलों को देखा। नगर निगम के अधिकारियों से उन्होंने कहा कि नर्मदा से लोगों की आस्था जुड़ी है लोग इस जल से आचमन करते हैं इसलिए जल की शुद्धता के साथ ही स्वच्छता का भी ध्यान रखा जाए। इस दौरान नगर निगम कमिश्नर अनूप सिंह, गोरखपुर एसडीएम मणिन्द्र सिंह व समाजसेवी जितेन्द्र जामदार सहित अन्य उपस्थित थे। नर्मदा तट के किनारे रहने वाले लोगों के घरों से निकलने वाला गंदा पानी भी नालियों से होकर नर्मदा में मिल रहा है। कलेक्टर ने कहा कि इसके लिए भी नगर निगम के अधिकारी व्यवस्था करें। गंदा पानी रोकने के लिए ऊपर बड़े टैंक बनाये जाएँ। फिल्टर प्लांट लगाया जाए। हालाँकि प्रयास यह किया जाए कि नाले का पानी नर्मदा में मिलना ही नहीं चाहिए।
नर्मदा जयंती से पहले बने ट्रैफिक प्लान
ग्वारीघाट क्षेत्र में नर्मदा तट पर भ्रमण के दौरान कलेक्टर ने कहा कि घाटों में साफ-सफाई रहे, अतिक्रमण हटाए जाएँ, दुकानें व्यवस्थित तरीके से लगें। वाहन चोरी की घटनाएँ न हों, पार्किंग की व्यवस्था की जाए। गंदगी फैलाने वालों पर जुर्माना लगे। इसके साथ ही नर्मदा जयंती पर हर बार जाम की स्थिति बनती है इसलिए अभी से ट्रैफिक प्लान तैयार किया जाए जिससे श्रद्धालु आसानी से नर्मदा तट पहुँच सकें और पूजन अर्चन कर सकें। 


 

कमेंट करें
tVDCF