दैनिक भास्कर हिंदी: NSCB कॉलेज में महाराणा प्रताप डेंटल कॉलेज के 4 छात्रों की पिटाई

September 1st, 2017

डिजिटल डेस्क,जबलपुर। महाराणा प्रताप डेंटल कॉलेज के BDS थर्ड ईयर के 4 छात्रों के साथ नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जमकर मारपीट हुई। हॉस्टल नंबर 2 के कुछ छात्रों ने इन छात्रों को जमकर पीटा और दोबारा यहां कभी न आने की चेतावनी भी दी। पीड़ित छात्रों ने पुलिस पर भी कार्रवाई न करने का आरोप लगाया।

पीड़ित छात्रों ने अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि वे काउंसलिंग के स्पॉट वैल्यूएशन के लिए मेडिकल यूनिवर्सिटी आए थे और एक रात रूकने अधिकारियों ने हॉस्टल नंबर 2 भेज दिया था। यहां उनके साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया गया। अब वे इस मामले की FIR ग्वालियर में ही करेंगे।  मारपीट के शिकार हुए छात्र दीपेंद्र सिरोठिया, करन अग्रवाल, शुभम डंगलोरिया और मनीष वर्मा ने बताया कि उनका 31 अगस्त को मेडिकल यूनिवर्सिटी में स्पॉट वैल्यूएशन होना था। वे 30 अगस्त को ही मेडिकल यूनिवर्सिटी पहुंच गए थे। मेडिकल यूनिवर्सिटी के अधिकारियों को उन्होंने बताया कि एक दिन रूकने की समस्या है तो उन्होंने मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल नंबर 2 में रूकने की बात कही। इसके बाद वे यहां आ गए और गार्ड ने उन्हें एक रूम में रूकवा दिया। रात में वे होटल से खाना खाकर लौटे तो कुछ छात्रों ने उन्हें घेर लिया और गाली-गलौज करने लगे। इसके बाद कुछ और छात्र एकत्र हो गए और उनके साथ जमकर मारपीट की गई। 

रिपोर्ट दर्ज नहीं कराने के सवाल पर छात्रों ने कहा कि यहां कोई सुनवाई नहीं हुई, जबकि गढ़ा थाने का कहना है कि इस प्रकार की शिकायत करने कोई आया ही नहीं। छात्रों का कहना था कि वे ग्वालियर में ही मामला दर्ज कराएंगे। जानकारों का कहना है कि ये छात्र बिना किसी को सूचना दिए ही हॉस्टल में रुके होंगे और स्थानीय छात्रों से उनका विवाद हुआ होगा। मेडिकल कॉलेज अस्पताल डीन डॉ. नवनीत सक्सेना का कहना है कि ग्वालियर के छात्र यहां कैसे रुक सकते हैं। इस मामले की मुझे कोई जानकारी नहीं है, हो सकता है कि वे अपने किसी हॉस्टलर दोस्त के कहने पर यहां बिना जानकारी के रुके हो और उनमें आपस में विवाद हो गया हो। मामले की पूरी जानकारी ली जाएगी।

खबरें और भी हैं...