comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

इंदौर हनी ट्रेप -आरती दयाल ने आठ माह पहले छतरपुर में पति के खिलाफ दर्ज कराया था दहेज प्रताडऩा का केस  

September 20th, 2019 14:48 IST
इंदौर हनी ट्रेप -आरती दयाल ने आठ माह पहले छतरपुर में पति के खिलाफ दर्ज कराया था दहेज प्रताडऩा का केस  

डिजिटल डेस्क छतरपुर । प्रदेश के चर्चित हनी ट्रेप मामले के तार छतरपुर से भी जुड़े हैं। वार्ड नंबर 37 देरी रोड निवासी आरती दयाल को इंदौर एटीएस ने भोपाल से हिरासत में लिया है। हाई प्रोफाइल लोगों को निशाना बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह की आरती दयाल सदस्य है। आरती ने 18 फरवरी 19 को अपने पति पंकज दयाल और सास, ससुर पर सिविल लाइन थाना में दहेज  प्रताडऩा का मामला दर्ज कराया था। केस दर्ज कराने के बाद आरती ने अपने परिवार को छोड़ दिया और हनी ट्रेप में फंसाकर लोगों को ब्लैकमेलिंग का धंधा शुरु कर दिया। 
ब्यूटी पार्लर का कोर्स करने भोपाल गई
आरती यहां से ब्यूटी पार्लर का कोर्स करने भोपाल गई और वहीं से उसने अन्य युवतियों को शामिल कर बड़े स्तर पर गिरोह बनाकर धंधा करना प्रारंभ कर दिया। ये गिरोह रुपए वाले लोगों को टारगेट कर अपनी साजिश का शिकार बनाता और रुपए ऐंठता था। एटीएस की टीम ने जब उसे पकड़ा, तो वह छतरपुर आरटीओ में दर्ज कार से ही वसूली करने गई थी।  
शहर के कई लोग फंस चुके हैं हनी ट्रेप में 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस गिरोह की महिलाओं की नजदीकी छतरपुर में पूर्व में पदस्थ रहे आईएएस, आईपीएस, पुलिसकर्मियों से लेकर राजनीतिक दलों के लोग व व्यापारी वर्ग के लोगों से भी रही है। भोपाल पुलिस से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि इस रैकेट के द्वारा छतरपुर के भी कई लोगों को अपना शिकार बनाया गया है। इनमें कुछ राजनेता एवं कारोबारी शामिल हैं। आशंका है कि आने वाले दिनों में ऐसे लोगों की जानकारियां भी सामने आ सकती हैं। फिलहाल भोपाल और इंदौर पुलिस ने रैकेट की इन सदस्यों को गिरफ्तार कर पड़ताल जारी रखी है।
 

कमेंट करें
jFRw9
कमेंट पढ़े
Rahul September 22nd, 2019 15:16 IST

Jab apney intna Itna Paisa Kama liya tha to usse Aage badhane ki kya jarurat Thi thoda sa ruk Jaate tulive Thodi Si samajh jaati aap Logon Ne Aage Piche ka Nahin Socha aur a Gai ab kya hoga Aage Dekho

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।