दैनिक भास्कर हिंदी: यहां दो बसों का मालिक नपा उपाध्यक्ष का परिवार ले रहा गरीबी रेखा का लाभ

August 24th, 2017

डिजिटल डेस्क, कटनी। यहां विजयराघवगढ़ नगर में दो बसों, कार तथा शानदार मकान का मालिक नपा उपाध्यक्ष का परिवार BPL कार्डधारी बनकर गरीबों की सभी योजनाओं का लाभ ले रहे हैं। एक ओर जहां गरीबों को लाभ दिलाने के लिए शासन द्वारा तरह-तरह की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, तो वहीं जिम्मेदारों की लापरवाही के कारण गरीबों की बजाय साधन संपन्न परिवारों को योजनाओं का लाभ मिल रहा है। यहां नगर परिषद उपाध्यक्ष अनिल शर्मा के परिवार के सदस्यों के नाम पर BPL राशन कार्ड जारी कर दिया गया है।

BPL सूची में मां-बेटे दोनों के नाम

गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को बेहतर सुविधा मिल सके इसके लिए BPL कार्ड जारी किए जाते हैं, लेकिन मामला विजयराघवगढ़ नगर परिषद क्षेत्र का है। जहां वार्ड क्रमांक 5 निवासी नगर परिषद के उपाध्यक्ष अनिल शर्मा घनश्याम शर्मा व मां विमला शर्मा जो नगर परिषद के नाम पर BPL कार्ड जारी किए गए हैं।  जिम्मेदार अमले की सांठ-गांठ और राजनैतिक पकड़ का लाभ उठाते हुए ऐसे लोग BPL कार्ड का लाभ ले रहे हैं जो पूरी तरह से अपात्र की श्रेणी में आते हैं लेकिन इसकी जांच करने की जहमत अधिकारियों द्वारा नहीं उठाई जा रही है।

साधन संपन्न उठा रहे लाभ

मामले की शिकायत विजयराघवगढ़ निवासी हेतराम गुप्ता द्वारा SP और कलेक्टर के यहां करते हुए मामले की जांच कराने की मांग की गई है। शिकायत के माध्यम से बताया गया है कि नगर परिषद के उपाध्यक्ष के भाई घनश्याम शर्मा व मां विमला शर्मा के नाम पर दो अलग-अलग BPL के राशन कार्ड जारी किए गए हैं, जिनका लाभ उनके द्वारा उठाया जा रहा है और वास्तविक गरीबों के हक पर डाका डालने का काम किया जा रहा है।

BPL कार्डधारी है बस मालिक

बताया गया कि घनश्याम शर्मा साधन संपन्न है जिसके पास पर्याप्त संसाधन हैं बावजूद इसके उक्त व्यक्ति द्वारा शासन की आंखों में धूल झोंकते हुए धोखाधड़ी पूर्वक फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जोन क्रमांक 2, वार्ड क्रमांक 5 से BPL कार्ड बनवाया गया है और सर्वेक्षण सूची क्रमांक 35/2006-07 ब्लू राशन कार्ड का अनाधिकृत उपयोग किया जा रहा है।

शिकायतकर्ता के अनुसार घनश्याम शर्मा दो बसों क्रमश: एमपी 19 पी 0106 व एमपी 19पी 0347 के अलावा ओमिनी वाहन क्रमांक एमपी 21 बीए 0687 का मालिक है जिसकी जानकारी सक्षम अधिकारी को देकर कार्ड निरस्त कराने की बजाय लाभ लेने की भूमिका निभाई जा रही है।

अपराध दर्ज कराने की मांग

शिकायतकर्ता ने बताया कि BPL कार्ड प्राप्त करने के लिए अनावेदक द्वारा फर्जी शपथ पत्र  दिया गया है और गरीबों के नाम पर संचालित योजनाओं का लाभ लिया जा रहा है लेकिन राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण उस पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। कलेक्टर और एसपी को सौंपे गए शिकायती पत्र के माध्यम से हेतराम गुप्ता द्वारा अनावेदक के विरुद्ध 420, 467, 468 के तहत अपराध दर्ज कराने की मांग की गई है।