• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Katni: The tigress attacked the elderly who had gone to feed the goats in the forest, the friend saved his life

दैनिक भास्कर हिंदी: कटनी: जंगल में बकरियों को चराने गए अधेड़ पर बाघिन ने किया हमला, दोस्त ने बचाई जान

September 22nd, 2019


डिजिटल डेस्क बरही/कटनी।  बरही के जंगल में अपनी बकरियां चराने गए अधेड़ पर बाघिन ने हमला कर दिया। घायल रामप्रसाद को देख उसका दोस्त लच्छू जोर-जोर से चिल्लाने व लाठी पटकने लगा, जिसकी आवाज सुनकर बाघिन जंगल की ओर भाग गई। घायल रामप्रसाद को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी स्थिति सामान्य बतायी जा रही है।
शावकों के साथ थी बाघिन-
वन परिक्षेत्र अंतर्गत झिरिया बीट के राजस्व क्षेत्र में बाघिन के हमले से चरवाहा घायल हो गया, जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दाएं हाथ और पेट में बाघिन के हमले के निशान हैं। शनिवार दोपहर रामप्रसाद यादव  (50) और उसका एक साथी लच्छू यादव बकरियों को चराने जंगल गए थे। झाडिय़ों से बाघिन दो शावकों के साथ पहुंची। इनमें से एक शावक बकरी पर  झपटा, तो रामप्रसाद यादव ने उसे भगाने का प्रयास किया। जिससे बाघिन ने रामप्रसाद पर हमला कर दिया। रामप्रसाद के शोर मचाने पर अन्य लोग भी दौड़े तो बाघिन शावकों के साथ जंगल के अंदर चली गई। शावकों के साथ रही बाघिन चरवाहों ने वन विभाग के अधिकारियों को बताया कि बाघिन अपने दो शावकों के साथ पहुंची हुई थी। एक शावक बकरी पर हमला बोला, तो दूसरा शावक खड़ा रहा। बाघिन चरवाहे के ऊपर सीधे हमला बोल दी। उस समय यही दोनों अपनी बकरियों को चराने का काम कर रहे थे। घायल रामप्रसाद को ग्रामीणों की मदद से वन विभाग के अधिकारी अस्पताल लेकर पहुंचे। इलाज के बाद हालात सामान्य बताई जा रही है।
शोर मचाकर बचाई जान-
रामप्रसाद यादव के ऊपर बाघ का हमला देख लच्छू ने साहस नहीं खोया। अमूमन इस समय लोग अपनी जान बचाने के लिए भाग जाते हैं, लेकिन लच्छू भागा नहीं, बल्कि वहीं पर खड़े होकर जोर से चिल्लाना शुरु कर दिया। लच्छू के
चिल्लाने पर बाघिन रामप्रसाद को छोड़ते हुए उसके तरफ दौड़ी, उसने फिर से
हिम्मत दिखाई। इस बार लाठी को तेज-तेज जमीन में पटकने लगा। जिसके बाद बाघिन जंगल की तरफ चली गई।