दैनिक भास्कर हिंदी: लद्दाख: भारत में भी ईरानी जनरल सुलेमानी की मौत का विरोध प्रदर्शन

January 6th, 2020

हाईलाइट

  • लेह में सुलेमानी की मौत के खिलाफ में लोगों ने निकाला मार्च
  • कानपुर में भी मार्च निकालकर राष्ट्रपति को फैक्स से सौंपा गया ज्ञापन

डिजिटल डेस्क, कानपुर। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर शुक्रवार तड़के ईरानी जनरल कमांडर कासिम सुलेमानी एयर स्ट्राइक में मारा गया। इसके बाद ईरान में सुलेमानी की मौत का विरोध किया जा रहा है और ईरान ने अमेरिका को मुंह तोड़ जवाब देने का संकल्प भी ले लिया है। अब यह विरोध भारत भी पहुंच गया है। केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की राजधानी लेह में सोमवार को सुलेमानी की मौत का विरोध मार्च निकाला गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने हाथों में तख्तियां लेकर अमेरिका के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

 

 

कानपुर में भी विरोध
लेह के अलावा रविवार को उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में भी सुलेमानी की मौत का विरोध प्रदर्शन देखने को मिला। यह विरोध मुस्लिम समुदाय ने किया, जिसमें शिया मुस्लिम शामिल थे। इस दौरान मुस्लिम महलाएं भी बड़ी तादाद में नजर आईं। विरोध प्रदर्शन के बाद मुस्लिम समुदाय ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को फैक्स के जरिए ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में सुलेमानी को आतंकवादी के रूप में पेश करने के लिए एक टीवी न्यूज चैनल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई। 

कौन है कासिम सुलेमानी?
ईरान रिवॉलूशनरी गार्ड्स का प्रमुख कासिम सुलेमानी कुड्स फोर्स का जिम्मा संभालता था, जो पूरे ईरान के लिए एक चहेता और ईमानदार सैनिक था। उसे ईरान की तरफ से लड़ने वाले अहम सिपाही के तौर पर जाना जाता था। पश्चिम एशिया के ज्यादातर मिशन में सुलेमानी ने अपना अहम योगदान दिया। इसके अलावा वह अमेरिका और ईरान के बीच लड़ाई में अमेरिका के लिए सिरदर्द बना हुआ था।

खबरें और भी हैं...